स्वामिन् (स्वामी) शब्द के रूप (Svaamin Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Svamin Shabd

स्वामिन् शब्द (स्वामी, Masterman, मालिक, प्रभु, पति, शौहर, ईश्वर, भगवान्, Lord, God): स्वामिन् शब्द के नकारान्त पुल्लिंग शब्द के शब्द रूप, स्वामिन् (Swamin) शब्द के अंत में “न्” का प्रयोग हुआ इसलिए यह नकारान्त हैं। अतः Swamin Shabd के Shabd Roop की तरह स्वामिन् जैसे सभी नकारान्त पुल्लिंग शब्दों के शब्द रूप (Shabd Roop) इसी प्रकार बनाते है।

जैसे – पथिन्, गुणिन्, व्रत्रहन्, स्थायिन्, मघवन्, लघिमन्, युवन्, स्वामिन्, आत्मघातिन्, अर्थिन्, एकाकिन्, कञ्चुकिन्, ज्ञानिन्, करिन्, कुटुम्बिन्, कुशलिन्, चक्रवर्तिन्, तपस्विन्, दूरदर्शिन्, द्वेषिन्, धनिन्, पक्षिन्, बलिन्, मन्त्रिन्, मनोहारिन्, मनीषिन्, मेधाविन्, रोगिन्, वैरिन् आदि। स्वामिन् शब्द के शब्द रूप संस्कृत में सभी विभक्तियों एवं तीनों वचन में शब्द रूप (Swamin Shabd Roop) नीचे दिये गये हैं।

स्वामिन् के शब्द रूप – Shabd roop of Swamin

विभक्ति एकवचन द्विवचन बहुवचन
प्रथमा स्वामी स्वामिनौ स्वामिनः
द्वितीया स्वामिनम् स्वामिनौ स्वामिनः
तृतीया स्वामिना स्वामिभ्याम् स्वामिभिः
चतुर्थी स्वामिने स्वामिभ्याम् स्वामिभ्यः
पंचमी स्वामिनः स्वामिभ्याम् स्वामिभ्यः
षष्ठी स्वामिनः स्वामिनोः स्वामिनाम्
सप्तमी स्वामिनि स्वामिनोः स्वामिषु
सम्बोधन हे स्वामिन् ! हे स्वामिनौ ! हे स्वामिनः !

स्वामिन् शब्द का अर्थ/मतलब

स्वामिन् शब्द का अर्थ स्वामी, मालिक, प्रभु, पति, शौहर, ईश्वर, भगवान्, Lord, God होता है। स्वामिन् शब्द नकारान्त शब्द है इसका मतलब भी ‘स्वामी, मालिक, प्रभु, पति, शौहर, ईश्वर, भगवान्, Lord, God’ होता है।

स्वामी 1 संज्ञा पुं॰ [सं॰ स्वामिन्] [संज्ञा स्त्री॰ स्वामिनी]

1. वह जिसके आश्रय में जीवन निर्वाह होता हो, वह जो जीविका चलाता हो, मालिक, प्रभु, अन्नदाता । जैसे,—वे मेरे स्वामी हैं । मैं उनका नमक खाता हूँ । उनकी आज्ञा का पालन करना मेरा परम धर्म है ।

2. धर का कर्ताधर्ता, घर का प्रधान पुरुष । जैसे —वे ही इस घर के स्वामी हैं, उनकी आज्ञा के बिना कोई काम नहीं हो सकता ।

3. स्वत्वाधिकारी, मालिक । जैसे,—इस नाट्यशाला के स्वामी एक बंगाली सज्जन हैं ।

4. पति, शौहर ।

5. ईश्वर, भगवान् ।

6. राजा, नरपति ।

7. कांर्तिकेय ।

8. साधु, संन्यासी और धर्माचार्यों की उपाधि । जैसे,—स्वामी शंकराचार्य स्वामी दयानंद, तैलंग स्वामी, श्रीधर स्वामी ।

9. सेना का नायक ।

10. शिव ।

11. विष्ण ।

12. गरुड़ ।

13. वात्स्यायन मुनि का एक नाम ।

14. गत उत्सर्पिणी के 11वें अर्हत् का नाम ।

15. गुरु, आचार्य (को॰) ।

16. देवता का विग्रह, देवमूर्ति (को॰) ।

17. मंदिर, देवालय (को॰) ।

स्वामी 2 वि॰ जिसे स्वत्वाधिकार हो । स्वत्वप्राप्त [को॰] ।

स्वामिन् जैसे और महत्वपूर्ण शब्द रूप

उपर्युक्त शब्द रूप स्वामिन् शब्द के नकारान्त पुल्लिंग शब्द के शब्द रूप हैं स्वामिन् जैसे शब्द रूप (Swamin shabd Roop) देखने के लिए Shabd Roop List पर जाएँ।

You may like these posts

शासत् शब्द के रूप (Shasat Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Shasat Shabd शासत् शब्द (sasat, शासत, शासन): शासत् शब्द के तकारान्त पुल्लिङ्ग शब्द के शब्द रूप, शासत् (Shasat) शब्द के अंत में ‘त’ की मात्रा का प्रयोग हुआ इसलिए यह...Read more !

देवृ शब्द के रूप (Devr Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Devr Shabd देवृ शब्द (देव, देवता, God): देवृ शब्द के ऋकारान्त पुल्लिंग शब्द के शब्द रूप, देवृ (Devr) शब्द के अंत में ‘ऋ’ की मात्रा का प्रयोग हुआ इसलिए यह...Read more !

जरा (बुढ़ापा) शब्द रूप – Jara ke Roop – Sanskrit

जरा शब्द के रूप जरा शब्द (बुढ़ापा, Old Age): आकारांत स्त्रील्लिंग संज्ञा, सभी आकारांत स्त्रील्लिंग संज्ञापदों के शब्द रूप इसी प्रकार बनाते है। जरा के शब्द रूप – Jara/Budapa Shabd...Read more !