मातृ (माता) शब्द के रूप – Matra/Mata ke roop – Sanskrit

मातृ (माता) शब्द रूप

मातृ शब्द (माता) : ऋकारान्त स्त्रील्लिंग संज्ञा, सभी ऋकारान्त स्त्रील्लिंग संज्ञापदों के शब्द रूप इसी प्रकार बनाते है। परन्तु स्वसृ का रूप थोड़ा भिन्न होता है।

मातृ (माता) के शब्द रूप – Matra/Mata Shabd Roop

विभक्ति एकवचन द्विवचन बहुवचन
प्रथमा माता मातरौ मातरः
द्वितीया मातरम् मातरौ मातृ
तृतीया मात्रा मातृभ्याम् मातृभिः
चतुर्थी मात्रे मातृभ्याम् मातृभ्यः
पंचमी मातुः मातृभ्याम् मातृभ्यः
षष्ठी मातुः मात्रोः मातृणाम्
सप्तमी मातरि मात्रोः मातृषु
सम्बोधन हे माता ! हे मातरौ ! हे मातरः !

अन्य महत्वपूर्ण शब्द रूप

Shabd roop of Matra (Mata) in Photo (pdf/image)

Matra / Mata Shabd Roop

You may like these posts

दधि (दही) शब्द के रूप – Dadhi ke roop – Sanskrit

दधि शब्द के रूप दधि शब्द (दही, Curd): इकारान्त नपुंसकलिंग संज्ञा, सभी इकारान्त नपुंसकलिंग संज्ञापदों के रूप इसी प्रकार बनाते है। जैसे – सक्थि(जंधा), अस्थि, अक्षि आदि। दधि के रूप...Read more !

ज्ञातवत् (ज्ञातवान्) शब्द के रूप (Gyaatavat Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Gyaatavat Shabd ज्ञातवत् शब्द (ज्ञातवान्, Knowingly, जाना हुआ): ज्ञातवत् शब्द के तकारांत डवतु प्रत्ययान्त पुल्लिङ्ग शब्द के शब्द रूप, ज्ञातवत् (Gyaatavat) शब्द के अंत में “त्” का प्रयोग हुआ इसलिए...Read more !

लङ्केश शब्द के रूप – Lankesh Ke Roop, Shabd Roop – Sanskrit

Lankesh Shabd लङ्केश शब्द (was used for Ravan in Ramayan Epic): अकारांत पुंल्लिंग शब्द, इस प्रकार के सभी अकारांत पुल्लिंग शब्दों के शब्द रूप (Shabd Roop) इसी प्रकार बनाते है।...Read more !