यद् (जो, Who) पुल्लिंग शब्द के रूप – Yad Pulling ke roop – Sanskrit

यद् पुल्लिंग शब्द के रूप

यद् पुल्लिंग शब्द (Who, Which जो): यद् (जो) पुल्लिंग सर्वनाम, यदादि यद्, तद्, एतद्, किम् – इन शब्दों का क्रमशः य: , स: , एष: , स्य: , क: होता है। और सर्व्वादि के तुल्य रूप होते हैं। नपुंसकलिंग में प्रथमा और द्वतीया के एकवचन में यत् , तत् , एतत् , त्यत् , किम् होता है। स्त्रीलिंग में इन शब्दों का रूप या , सा , एषा , स्या, का, होता है। सर्वनाम का सम्बोधन नहीं होता है।

यद् पुल्लिंग के रूप

विभक्ति एकवचन द्विवचन बहुवचन
प्रथमा यः यौ ये
द्वितीया यम् यौ यान्
तृतीया येन याभ्याम् यैः
चतुर्थी यस्मै याभ्याम् येभ्यः
पंचमी यस्मात् याभ्याम् येभ्यः
षष्ठी यस्य ययोः येषाम्
सप्तमी यस्मिन् ययोः येषु

अन्य महत्वपूर्ण शब्द रूप

Shabd roop of Yad Pulling

Yad Pulling ke roop - Sanskrit Shabd Roop

Related Posts

मूल्य शब्द के रूप – Mulya Ke Shabd Roop – Sanskrit

Mulya Shabd मूल्य शब्द (दाम, कीमत, भाव, Price): मूल्य शब्द के अकारान्त नपुंसकलिंग शब्द के शब्द रूप, मूल्य (Mulya) शब्द के अंत में “अ” की मात्रा का प्रयोग हुआ इसलिए...Read more !

त्रितय शब्द के रूप (Tritay Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Tritay Shabd त्रितय शब्द (जिसके तीन अवयव हैं): त्रितय शब्द के अकारान्त पुल्लिंग शब्द के शब्द रूप, त्रितय (Tritay) शब्द के अंत में “अ” का प्रयोग हुआ इसलिए यह अकारान्त...Read more !

ठक्कुर(ठाकुर) शब्द के रूप – Thakkur(Thakur) Ke Shabd Roop – Sanskrit

Thakkur Shabd ठक्कुर शब्द: Knot; अकारांत पुंल्लिंग शब्द; इस प्रकार के सभी अकारांत पुल्लिंग शब्दों के शब्द रूप (Shabd Roop) इसी प्रकार बनाते है। ठक्कुर के शब्द रूप इस प्रकार...Read more !

कति शब्द के रूप (Kati Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Kati Shabd कति शब्द (कितने, किस कदर): कति शब्द के इकारांत पुल्लिंग शब्द के शब्द रूप, कति (Kati) शब्द के अंत में “इ” की मात्रा का प्रयोग हुआ इसलिए यह...Read more !

क्षत्रिय के शब्द रूप – Kshatriya ke roop – संस्कृत

क्षत्रिय शब्द के रूप क्षत्रिय शब्द : अकारांत पुल्लिंग संज्ञा , सभी पुल्लिंग संज्ञाओ के रूप इसी प्रकार बनाते है जैसे -देव, बालक, राम, वृक्ष, सूर्य, सुर, असुर, मानव, अश्व, गज,...Read more !

Leave a Reply

Your email address will not be published.