सर्व पुल्लिंग शब्द के रूप – Sarv Pulling Sarvnam Sabd Roop – Sanskrit

सर्व शब्द

सर्व पुल्लिंग सर्वनाम शब्द (सभी, All, Male): पुल्लिंग सर्वनाम, सर्वनाम शब्द रूप पांच विभागों में विभक्त है। – सर्व्वादि, अन्यादि, पूर्वादि, इदमादि और यदादि। सर्वनाम का सम्बोधन नहीं होता है। सर्व, विश्व, उभय, एक, और एकतर इन शब्दों रूप एकसमान ही होते है।।

सर्व के शब्द रूप – Sarv Sabd Roop (Pulling)

विभक्ति एकवचन द्विवचन बहुवचन
प्रथमा सर्व: सर्वौ सर्वे
द्वितीया सर्वम् सर्वौ सर्वान्
तृतीया सर्वेण सर्वाभ्याम् सर्वै:
चतुर्थी सर्वस्मै सर्वाभ्याम् सर्वेभ्य:
पंचमी सर्वस्मात् सर्वाभ्याम् सर्वेभ्य:
षष्ठी सर्वस्य सर्वयो: सर्वेषाम्
सप्तमी सर्वस्मिन् सर्वयो: सर्वेषु

अन्य महत्वपूर्ण शब्द रूप

Shabd roop of Sarv Pulling

Sarv Pulling Sarvnam Sabd Roop

You may like these posts

जाति शब्द के रूप – Jati ke Roop – Sanskrit

जाति के शब्द रूप जाति शब्द (Caste): इकारांत स्त्रीलिंग शब्द , इस प्रकार के सभी इकारांत स्त्रीलिंग शब्दों के शब्द रूप (Shabd Roop) इसी प्रकार बनाते है। जाति के रूप...Read more !

गो/गौ शब्द के रूप – Go/Gau shabd ke roop – Sanskrit

गो/गौ शब्द के रूप गो/गौ शब्द (बैल/इंद्रिया/किरण/सूर्य): ओकारांत पुल्लिंग /स्त्रीलिंग संज्ञा, गो शब्द का रूप स्त्रीलिंग एवं पुल्लिंग दोनों समान होते हैं। पुल्लिंग में गो का अर्थ है- बैल, सूर्य,...Read more !

तिष्ठत् शब्द के रूप (Tishthat Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Tishthat Shabd तिष्ठत् शब्द (बैठता हुआ, Sitting): तिष्ठत् शब्द के तकारान्त पुल्लिंग शब्द के शब्द रूप, तिष्ठत् (Tishthat) शब्द के अंत में “त्” का प्रयोग हुआ इसलिए यह तकारान्त हैं।...Read more !