किम् (क्या/कौन) नपुंसकलिंग शब्द के रूप – Kim Napunsak Ling ke roop – Sanskrit

किम् नपुंसकलिंग शब्द के रूप

किम् नपुंसकलिंग शब्द (क्या/कौन, Who/What): किम् (क्या/कौन) नपुंसकलिंग सर्वनाम, नपुंसकलिंग में प्रथमा और द्वितीया को छोडकर शेष सभी शब्द रूप पुल्लिंग की भाँति होते हैं। यदादि यद्, तद् , एतद् , किम् – इन शब्दों का क्रमशः य: , स: , एष: , स्य: , क: होता है। और सर्व्वादि के तुल्य रूप होते हैं। नपुंसकलिंग में प्रथमा और द्वतीया के एकवचन में यत् , तत् , एतत् , त्यत् , किम् होता है। स्त्रीलिंग में इन शब्दों का रूप या , सा , एषा , स्या, का, होता है। सर्वनाम का सम्बोधन नहीं होता है।

किम् नपुंसकलिंग के रूप

विभक्ति एकवचन द्विवचन बहुवचन
प्रथमा किम् के कानि
द्वितीया किम् के कानि
तृतीया केन काभ्याम् कैः
चतुर्थी कस्मै काभ्याम् केभ्यः
पंचमी कस्मात् काभ्याम् केभ्यः
षष्ठी कस्य कयोः केषाम्
सप्तमी कस्मिन् कयोः केषु

अन्य महत्वपूर्ण शब्द रूप

Shabd roop of Kim Napunsak Ling

 Kim Napunsak Ling ke roop - Sanskrit Shabd Roop

Related Posts

वनस्पति शब्द के रूप – Vanaspati Ke Roop, Shabd Roop – Sanskrit

Vanaspati Shabd वनस्पति शब्द (The vegetation): इकारान्त पुंल्लिंग शब्द , इस प्रकार के सभी इकारान्त पुल्लिंग शब्दों के शब्द रूप (Shabd Roop) इसी प्रकार बनाते है। संस्कृत व्याकरण एवं भाषा...Read more !

कीदृश् शब्द के रूप (Keedrash Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Keedrash Shabd कीदृश् शब्द (कीदृश, कैसा): कीदृश् शब्द के शकारान्त पुल्लिंग शब्द के शब्द रूप, कीदृश् (Keedrash) शब्द के अंत में ‘श्’ की मात्रा का प्रयोग हुआ इसलिए यह शकारान्त...Read more !

मन्त्रिन् (मंत्री) शब्द के रूप (Mantrin Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Mantrin Shabd मन्त्रिन् शब्द (मंत्री, परामर्श देनेवाला, सलाह देनेवाला): मन्त्रिन् शब्द के नकारान्त पुल्लिंग शब्द के शब्द रूप, मन्त्रिन् (Mantrin) शब्द के अंत में “न्” का प्रयोग हुआ इसलिए यह...Read more !

वर्मन् (वर्म) शब्द के रूप (Varman Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Varman Shabd वर्मन् शब्द (कवच, बकतर, घर, आश्रय, वर्म): वर्मन् शब्द के नकारान्त नपुंसकलिंग शब्द के शब्द रूप, वर्मन् (Varman) शब्द के अंत में ‘न्’ की मात्रा का प्रयोग हुआ...Read more !

मन्यु शब्द के रूप (Manyu Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Manyu Shabd मन्यु शब्द ( स्त्रोत्र, कर्म, शेक, याग, कोप, क्रोध ): मन्यु शब्द के उकारान्त पुल्लिङ्ग शब्द के शब्द रूप, मन्यु (Manyu) शब्द के अंत में ‘उ’ की मात्रा...Read more !