करिन् (करी) शब्द के रूप (Karin Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Karin Shabd

करिन् शब्द (करी, छत पाटने का शहतीर, धरन, कड़ी): करिन् शब्द के नकारान्त पुल्लिंग शब्द के शब्द रूप, करिन् (Karin) शब्द के अंत में “न्” का प्रयोग हुआ इसलिए यह नकारान्त हैं। अतः Karin Shabd के Shabd Roop की तरह करिन् जैसे सभी नकारान्त पुल्लिंग शब्दों के शब्द रूप (Shabd Roop) इसी प्रकार बनाते है। जैसे – पथिन्, गुणिन्, व्रत्रहन्, स्थायिन्, मघवन्, लघिमन्, युवन्, स्वामिन्, आत्मघातिन्, अर्थिन्, एकाकिन्, कञ्चुकिन्, ज्ञानिन्, करिन्, कुटुम्बिन्, कुशलिन्, चक्रवर्तिन्, तपस्विन्, दूरदर्शिन्, द्वेषिन्, धनिन्, पक्षिन्, बलिन्, मन्त्रिन्, मनोहारिन्, मनीषिन्, मेधाविन्, रोगिन्, वैरिन् आदि। करिन् शब्द के शब्द रूप संस्कृत में सभी विभक्तियों एवं तीनों वचन में शब्द रूप (Karin Shabd Roop) नीचे दिये गये हैं।

करिन् के शब्द रूप – Shabd roop of Karin

विभक्ति एकवचन द्विवचन बहुवचन
प्रथमा करी करिणौ करिणः
द्वितीया करिणम् करिणौ करिणः
तृतीया करिणा करिभ्याम् करिभिः
चतुर्थी करिणे करिभ्याम् करिभ्यः
पंचमी करिणः करिभ्याम् करिभ्यः
षष्ठी करिणः करिणोः करिणाम्
सप्तमी करिणि करिणोः करिषु
सम्बोधन हे करिण् ! हे करिणौ ! हे करिणः !

करिन् शब्द का अर्थ/मतलब

करिन् शब्द का अर्थ करी, छत पाटने का शहतीर, धरन, कड़ी होता है। करिन् शब्द नकारान्त शब्द है इसका मतलब भी ‘करी, छत पाटने का शहतीर, धरन, कड़ी’ होता है।

करी 1 संज्ञा पुं॰ [सं॰ करिन्] [स्त्री॰ करिणी]
1. हाथी । उ॰— दीरघ दरीन बसै केशोदास केसरी ज्यों केसरी को देखे बन करी ज्यों कँपत हैं ।—केशव (शब्द॰) ।

करी 2 संज्ञा स्त्री॰ [सं॰ काणड़ > * काण्डिका] छत पाटने का शहतीर । धरन । कड़ी ।

करी 3 संज्ञा स्त्री॰ [हिं॰ कली] कली । अनखिला फुल । उ॰— कहुँ सुगंध कनि कसि निरमरी । भा अलि संग कि अबहीं करी ।— जायसी ग्र॰ ( गुप्त), पृ॰ ९४ ।
2. 14 मात्राओं का एक छँद जिसको चौपैया भी कहते है । उ॰— चलत कहों मधुर भूपाल । दखिनी आवत तुम पै हाल ।— सूदन (शब्द॰) ।

करी 4 वि॰ [सं॰ कर प्रत्य॰ का स्त्री॰]
1. करने या करानेवाली । जैसे, प्रलयंकरी ।
2. प्राप्त करानेवाली । उत्पन्न करानेवाली । जैसे, अर्थकरी ।

करिन् जैसे और महत्वपूर्ण शब्द रूप

उपर्युक्त शब्द रूप करिन् शब्द के नकारान्त पुल्लिंग शब्द के शब्द रूप हैं करिन् जैसे शब्द रूप (Karin shabd Roop) देखने के लिए Shabd Roop List पर जाएँ।

You may like these posts

यवक्री शब्द के रूप (Yavakri Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Yavakri Shabd यवक्री शब्द (यवक्रत की गाथा): यवक्री शब्द के ईकारान्त पुल्लिंग शब्द के शब्द रूप, यवक्री (Yavakri) शब्द के अंत में ‘ई’ की मात्रा का प्रयोग हुआ इसलिए यह...Read more !

वल्लभ शब्द के रूप – Vallabh Ke Shabd Roop – Sanskrit

Vallabh Shabd वल्लभ शब्द का अर्थ (meaning): वल्लभ, भर्तार, सुहाग, सौहर, साजन, बालम, वर, पति, स्वामी, प्राणाधार, प्राणप्रिय, प्राणेश, आर्यपुत्र, दूल्हा, Vallabh, Bhartar, Suhag, Sauhar, Sajan, Balam, Var, Pati, Swami,...Read more !

एतद्/एतत् (यह) स्त्रीलिंग शब्द के रूप – Yah, Etad/Etat Striling ke roop – Sanskrit

एतद्/एतत् स्त्रीलिंग शब्द के रूप एतद् / एतत् स्त्रीलिंग शब्द (This, यह): एतद् / एतत् (वह) स्त्रीलिंग सर्वनाम, यदादि – यद्, तद्, एतद्, किम् – इन शब्दों का क्रमशः य:...Read more !