हरियाणी बोली – Haryanvi Boli व खड़ी बोली में अंतर

Haryanvi Boli
Haryanvi Boli

हरियाणी बोली

हरियाणी (Haryanvi Boli)– यह हिन्दी भाषा दिल्ली, करनाल, रोहतक, हिसार, पटियाला, नामा, जींद, पूर्वी हिसार आदि प्रदेशों में बोली जाती है। इस पर पंजाबी और राजस्थानी का पर्याप्त प्रभाव है। ग्रियर्सन ने इसे बाँगरू कहा है। इस प्रदेश में अहीरों अथवा जाटों की प्रधानता है, अत: इसे ‘जाटू‘ भाषा भी कहा जाता है। हरियाणी में परिनिष्ठित साहित्य का अभाव है।

हरियाणी की विशेषताएँ हरियाणी

हरियाणी बोली की प्रमुख विशेषताएँ इस प्रकार हैं-

  • हरियाणी और खड़ी बोली में बहुत कम अन्तर है। खड़ी बोली की अनेक विशेषताएँ हरियाणी में भी देखी जा सकती है।
  • आकारान्त शब्द तथा द्वित्व व्यंजन का प्रयोग हरियाणी में भी प्रचुर मात्रा में मिलता है, जैसे- घरौं, छोहरियाँ तथा बापू आदि।
  • अधिकरण कारक में मह, माँह तथा संप्रदान कारक में ल्याँ, आदि परसर्ग पाये जाते हैं।
  • क्रिया रूपों में सहायक क्रिया है, हैं, हूँ, हो के स्थान पर हरियाणी में सै, मैं, हूँ, सो का प्रयोग होता है।
  • वर्तमान कृदन्त रूप में हिन्दी का ‘ता’ और पंजाबी का ‘दा’ दोनों मिलते हैं, जैसे करता और करदा।।

Haryanvi Boli ke Shabd, word

भाई बाहर रही होगी, बालक पण तें इब्ब सीख ले गी कोए बात ना, कम तें कम न्यू ते कहवे स अक आपणी बोली स, सीख ले प्रीति सुथरी ढाल फेर विपिन भाई ने कती देसी चमोले सुणआइये आदि।

हरियाणी बोली और खड़ी बोली में अंतर

हरियाणी और खड़ी बोली में बहुत कम अन्तर है। खड़ी बोली की अनेक विशेषताएँ हरियाणी में भी देखी जा सकती है। आकारान्त शब्द तथा द्वित्व व्यंजन का प्रयोग हरियाणी में भी प्रचुर मात्रा में मिलता है, जैसे-घरौं, छोहरियाँ तथा बापू आदि।

हरियाणवी कहावत

  • भैस तालाब मेँ और लड़की माँल मेँ जाने के बाद बड़ी मुश्किल से बाहर निकलती है
  • शेर दिखने पर कुत्ता और डर लगने पर लड़की आँख बंद करके चिल्लाती है
  • भूख लगने पर बकरी और काल करने पर लड़की बहुत ज्यादा बोलती है
  • गेहूँ के खेत मे गाय और चाट की दुकान मेँ लड़की बार बार जाती है

You may like these posts

Colours (Color) name in Hindi (Rango Ke Naam), Sanskrit and English

Colours (Color) name in Hindi, Sanskrit and English In this chapter you will know the names of Colour (Color) in Hindi, Sanskrit and English. We are going to discuss Colours name’s...Read more !

कृष्ण भक्ति काव्यधारा या कृष्णाश्रयी शाखा – कवि और रचनाएँ

कृष्ण काव्यधारा या कृष्णाश्रयी शाखा जिन भक्त कवियों ने विष्णु के अवतार के रूप में कृष्णा की उपासना को अपना लक्ष्य बनाया वे ‘कृष्णाश्रयी शाखा’ या ‘कृष्ण काव्यधारा’ के कवि...Read more !

Insects meaning and name in Hindi, Sanskrit and English – 52 Kide (Insect) Ke Naam

Insects name in Hindi, Sanskrit and English In this chapter you will know the names of Insect in Hindi, Sanskrit and English. We are going to discuss Insects name’s List &...Read more !