द्विजन्मन् (द्विजन्मा) शब्द के रूप (Dvijanman Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Dvijanman Shabd

द्विजन्मन् शब्द (द्विजन्मा, जिसका दो बार जन्म हुआ हो, द्विज): द्विजन्मन् शब्द के नकारांत पुल्लिङ्ग शब्द के शब्द रूप, द्विजन्मन् (Dvijanman) शब्द के अंत में “न्” का प्रयोग हुआ इसलिए यह नकारांत हैं। अतः Dvijanman Shabd के Shabd Roop की तरह द्विजन्मन् जैसे सभी नकारांत पुल्लिङ्ग शब्दों के शब्द रूप (Shabd Roop) इसी प्रकार बनाते है। द्विजन्मन् शब्द के शब्द रूप संस्कृत में सभी विभक्तियों एवं तीनों वचन में शब्द रूप (Dvijanman Shabd Roop) नीचे दिये गये हैं।

द्विजन्मन् के शब्द रूप – Shabd roop of Dvijanman

विभक्ति एकवचन द्विवचन बहुवचन
प्रथमा द्विजन्मा द्विजन्मानौ द्विजन्मानः
द्वितीया द्विजन्मानम् द्विजन्मानौ द्विजन्मनः
तृतीया द्विजन्मना द्विजन्मभ्याम् द्विजन्माभिः
चतुर्थी द्विजन्मने द्विजन्मभ्याम् द्विजन्मभ्यः
पंचमी द्विजन्मनः द्विजन्मभ्याम् द्विजन्मभ्यः
षष्ठी द्विजन्मनः द्विजन्मनोः द्विजन्मनाम्
सप्तमी द्विजन्मनि द्विजन्मनोः द्विजन्मसु
सम्बोधन हे द्विजन्मन् ! हे द्विजन्मानौ ! हे द्विजन्मानः !

द्विजन्मन् शब्द का अर्थ/मतलब

द्विजन्मन् शब्द का अर्थ द्विजन्मा, जिसका दो बार जन्म हुआ हो, द्विज होता है। द्विजन्मन् शब्द नकारांत शब्द है इसका मतलब भी ‘द्विजन्मा, जिसका दो बार जन्म हुआ हो, द्विज’ होता है।

द्विजन्मन् जैसे और महत्वपूर्ण शब्द रूप

उपर्युक्त शब्द रूप द्विजन्मन् शब्द के नकारांत पुल्लिङ्ग शब्द के शब्द रूप हैं द्विजन्मन् जैसे शब्द रूप (Dvijanman shabd Roop) देखने के लिए Shabd Roop List पर जाएँ।

You may like these posts

विपत्ति शब्द के रूप – Vipatti Ke Shabd Roop – Sanskrit

Vipatti Shabd विपत्ति शब्द ( संकट, आपत्ति, मुसीबत, यातना, calamity, disaster, fatality, adversity): विपत्ति शब्द के इकारान्त स्त्रील्लिङ्ग शब्द के शब्द रूप, विपत्ति (Vipatti) शब्द के अंत में “इ” की...Read more !

कतर शब्द के रूप (Katar Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Katar Shabd कतर शब्द (कतर प्रायद्वीप पर स्थित एक अरब देश): कतर शब्द के अकारांत शब्द के शब्द रूप, कतर (Katar) शब्द के अंत में “अ” की मात्रा का प्रयोग...Read more !

पङ्क्ति/पंक्ति शब्द के रूप – Pankti Ke Shabd Roop – Sanskrit

Pankti Shabd पङ्क्ति/पंक्ति शब्द (कतार, line, row): पङ्क्ति/पंक्ति शब्द के इकारान्त स्त्रील्लिङ्ग शब्द के शब्द रूप, पङ्क्ति/पंक्ति (Pankti) शब्द के अंत में “इ” की मात्रा का प्रयोग हुआ इसलिए यह...Read more !