धनेश शब्द के रूप – Dhanesh Ke Shabd Roop – Sanskrit

Dhanesh Shabd

धनेश शब्द: धनेश, कुबेर, किन्नरपति, किन्नर नरेश, यक्षराज, धनाधिप, धनराज. Dhanesh, Kuber, Kinnarpati, Kinnar naresh, Yakshraj, Dhanadhip, Dhanraj; अकारांत पुल्लिंग शब्द; इस प्रकार के सभी अकारांत पुल्लिंग शब्दों के शब्द रूप (Shabd Roop) इसी प्रकार बनाते है।

धनेश के शब्द रूप इस प्रकार हैं-

धनेश के शब्द रूप – Shabd roop of Dhanesh

विभक्ति एकवचन द्विवचन बहुवचन
प्रथमा धनेशः धनेशौ धनेशाः
द्वितीया धनेशम् धनेशौ धनेशान्
तृतीया धनेशेन धनेशाभ्याम् धनेशैः
चतुर्थी धनेशाय धनेशाभ्याम् धनेशेभ्यः
पंचमी धनेशात् धनेशाभ्याम् धनेशेभ्यः
षष्ठी धनेशस्य धनेशयोः धनेशानाम्
सप्तमी धनेशे धनेशयोः धनेशेषु
सम्बोधन हे धनेश ! हे धनेशौ ! हे धनेशाः !

अन्य महत्वपूर्ण शब्द रूप एवम् धातु रूप

संस्कृत व्याकरण एवं भाषा में शब्द रूप अति महत्व रखते हैं, और धातु रूप (Dhatu Roop) भी बहुत ही आवश्यक होते हैं।
महत्वपूर्ण शब्द रूप की Shabd Roop List देखें और साथ में shabd roop yad karane ki trick भी, सभी शब्द रूप संस्कृत में।

Related Posts

भानुमत् शब्द के रूप (Bhanumat Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Bhanumat Shabd भानुमत् शब्द (दीप्तियुक्त, प्रकाशमान् , सुंदर): भानुमत् शब्द के तकारांत डवतु प्रत्ययान्त पुल्लिङ्गः शब्द के शब्द रूप, भानुमत् (Bhanumat) शब्द के अंत में “त्” का प्रयोग हुआ इसलिए...Read more !

तन्तु शब्द के रूप – Tantu Ke Shabd Roop – Sanskrit

Tantu Shabd तन्तु शब्द ( रेशा , आंस- किसी वस्तु में पाई जानेवाली लम्बी और पतली ठोस चीज़): तन्तु शब्द के उकारांत पुल्लिंग शब्द के शब्द रूप, अर्थात तन्तु (Tantu)...Read more !

शिक्षक शब्द के रूप (Shikshak Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Shikshak Shabd शिक्षक शब्द (अध्यापक, Teacher): शिक्षक शब्द के अकारांत पुल्लिंग शब्द के शब्द रूप, शिक्षक (Shikshak) शब्द के अंत में “अ” की मात्रा का प्रयोग हुआ इसलिए यह अकारांत...Read more !

भर्तृ (भर्ता) शब्द के रूप (Bhartr Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Bhartr Shabd भर्तृ शब्द (भर्ता, गौरीभर्ता, शिव, स्त्री का पति, स्वामी, मालिक, खाविंद): भर्तृ शब्द के ऋकारान्त पुल्लिंग शब्द के शब्द रूप, भर्तृ (Bhartr) शब्द के अंत में ‘ऋ’ की...Read more !

मृदु शब्द के रूप – Mradu Ke Shabd Roop – Sanskrit

Mradu Shabd मृदु शब्द (कोमल, Sweet): मृदु शब्द के उकारांत शब्द के शब्द रूप, अर्थात मृदु (Mradu) शब्द के अंत में “उ” की मात्रा का प्रयोग हुआ इसलिए यह उकारांत...Read more !