मानव शब्द के रूप – Maanav ke roop – संस्कृत

मानव शब्द

मानव शब्द : अकारांत पुल्लिंग संज्ञा , सभी पुल्लिंग संज्ञाओ के शब्द रूप इसी प्रकार बनाते है जैसे -देव, बालक, राम, वृक्ष, सूर्य, सुर, असुर, मानव, अश्व, गज, ब्राह्मण, क्षत्रिय, शूद्र, छात्र, शिष्य, दिवस, लोक, ईश्वर, भक्त आदि।

मानव के शब्द रूप – Maanav Shabd Roop

विभक्ति एकवचन द्विवचन बहुवचन
प्रथमा मानव: मानवौ मानवा:
द्वितीया मानवम् मानवौ मानवान्
तृतीया मानवेन मानवाभ्याम् मानवै:
चतुर्थी मानवाय मानवाभ्याम् मानवेभ्य:
पंचमी मानवात् मानवाभ्याम् मानवेभ्य:
षष्ठी मानवस्य मानवयो: मानवानाम्
सप्तमी मानवे मानवयो: मानवेषु
संबोधन हे मानव! हे मानवौ! हे मानवा!

अकारांत पुल्लिंग संज्ञाओ के शब्द रूप

अन्य महत्वपूर्ण शब्द रूप

Sahabd roop of Manav

manav shabd roop

You may like these posts

भय शब्द के रूप (Bhay Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Bhay Shabd भय शब्द (Fear, डर, भय, आशंका, चिंता, शंका, संत्रास): भय शब्द के अकारान्त नपुंसकलिंग शब्द के शब्द रूप, भय (Bhay) शब्द के अंत में ‘अ’ का प्रयोग हुआ...Read more !

भानु शब्द के रूप – Bhanu Ke Roop, Shabd Roop – Sanskrit

Bhanu Shabd भानु शब्द (सूर्य, sun): उकारान्त पुंल्लिंग शब्द , इस प्रकार के सभी उकारान्त पुल्लिंग शब्दों के शब्द रूप (Shabd Roop) इसी प्रकार बनाते है। भानु के शब्द रूप...Read more !

प्रियत्त्रि शब्द के रूप (Priyattri Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Priyattri Shabd प्रियत्त्रि शब्द (प्रियत्त्रि): प्रियत्त्रि शब्द के इकारांत पुल्लिंग शब्द के शब्द रूप, प्रियत्त्रि (Priyattri) शब्द के अंत में “इ” की मात्रा का प्रयोग हुआ इसलिए यह इकारांत हैं।...Read more !