दीव्यत् शब्द के रूप – Divyat Ke Shabd Roop – Sanskrit

Divyat Shabd

दीव्यत् शब्द: Divyat; तकारान्त नपुंसकलिंग शब्द; इस प्रकार के सभी तकारान्त नपुंसकलिंग शब्दों के शब्द रूप (Shabd Roop) इसी प्रकार बनाते है।

दीव्यत् के शब्द रूप इस प्रकार हैं-

दीव्यत् के शब्द रूप – Shabd roop of Divyat

विभक्ति एकवचन द्विवचन बहुवचन
प्रथमा दीव्यत्/ दीव्यद् दीव्यन्ती दीव्यन्ति
द्वितीया दीव्यत्/ दीव्यद् दीव्यन्ती दीव्यन्ति
तृतीया दीव्यता दीव्यद्भ्याम् दीव्यद्भिः
चतुर्थी दीव्यते दीव्यद्भ्याम् दीव्यद्भ्यः
पंचमी दीव्यतः दीव्यद्भ्याम् दीव्यद्भ्यः
षष्ठी दीव्यतः दीव्यतोः दीव्यताम्
सप्तमी दीव्यति दीव्यतोः दीव्यत्सु
सम्बोधन हे दीव्यत्/ दीव्यद् ! हे दीव्यती/ दीव्यन्ती ! हे दीव्यन्ति !

अन्य महत्वपूर्ण शब्द रूप एवम् धातु रूप

संस्कृत व्याकरण एवं भाषा में शब्द रूप अति महत्व रखते हैं, और धातु रूप (Dhatu Roop) भी बहुत ही आवश्यक होते हैं।
महत्वपूर्ण शब्द रूप की Shabd Roop List देखें और साथ में shabd roop yad karane ki trick भी, सभी शब्द रूप संस्कृत में।

Related Posts

दशतय शब्द के रूप (Dashatay Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Dashatay Shabd दशतय शब्द (जिसके दस अवयव हैं): दशतय शब्द के अकारान्त पुल्लिंग शब्द के शब्द रूप, दशतय (Dashatay) शब्द के अंत में “अ” का प्रयोग हुआ इसलिए यह अकारान्त...Read more !

प्रत्यच् शब्द के रूप – Pratyach Ke Roop, Shabd Roop – Sanskrit

Pratyach Shabd प्रत्यच् शब्द (पश्चिम दिशा, West): चकारांत पुंल्लिंग शब्द , इस प्रकार के सभी चकारांत पुल्लिंग शब्दों के शब्द रूप (Shabd Roop) इसी प्रकार बनाते है। जैसे- जलमुच् (मेघ...Read more !

एकाकिन् (एकाकी) शब्द के रूप (Ekakin Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Ekakin Shabd एकाकिन् शब्द (एकाकी, अकेला, single, lonely, alone): एकाकिन् शब्द के नकारान्त पुल्लिंग शब्द के शब्द रूप, एकाकिन् (Ekakin) शब्द के अंत में “न्” का प्रयोग हुआ इसलिए यह...Read more !

घोड़ा शब्द के रूप – Ghoda ke Roop – Sanskrit

घोड़ा के शब्द रूप घोड़ा शब्द (Horse): आकारांत पुंल्लिंग शब्द , इस प्रकार के सभी आकारांत पुल्लिंग शब्दों के शब्द रूप (Shabd Roop) इसी प्रकार बनाते है। घोड़ा के रूप...Read more !

देवृ शब्द के रूप (Devr Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Devr Shabd देवृ शब्द (देव, देवता, God): देवृ शब्द के ऋकारान्त पुल्लिंग शब्द के शब्द रूप, देवृ (Devr) शब्द के अंत में ‘ऋ’ की मात्रा का प्रयोग हुआ इसलिए यह...Read more !