जनक शब्द के रूप – Janak ke Roop – Sanskrit

जनक के शब्द रूप

जनक शब्द: अकारांत पुंल्लिंग शब्द , इस प्रकार के सभी अकारांत पुल्लिंग शब्दों के शब्द रूप (Shabd Roop) इसी प्रकार बनाते है।

जनक के रूप – Janak Shabd Roop

विभक्ति एकवचन द्विवचन बहुवचन
प्रथमा जनकः जनकौ जनकाः
द्वितीया जनकम् जनकौ जनकान्
तृतीया जनकेन जनकाभ्याम् जनकैः
चतुर्थी जनकाय जनकाभ्याम् जनकेभ्यः
पंचमी जनकात् जनकाभ्याम् जनकेभ्यः
षष्ठी जनकस्य जनकयोः जनकानाम्
सप्तमी जनके जनकयोः जनकेषु
सम्बोधन हे जनक ! हे जनकौ ! हे जनकाः !

अन्य महत्वपूर्ण शब्द रूप

महत्वपूर्ण शब्द रूप की Shabd Roop List देखें और साथ में shabd roop yad karane ki trick भी, सभी शब्द रूप संस्कृत में।

Shabd roop of Janak -Image

Janak Shabd Roop

Related Posts

सुनौ शब्द के रूप (Sunau Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Sunau Shabd सुनौ शब्द (अच्छी नौका या नाव, जल): सुनौ शब्द के औकारान्त नपुंसकलिंग शब्द के शब्द रूप, सुनौ (Sunau) शब्द के अंत में ‘औ’ की मात्रा का प्रयोग हुआ...Read more !

दृष्टि शब्द के रूप (Drashti Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Drashti Shabd दृष्टि शब्द (vision, sight, दृष्टि, नजर, अवलोकन, ज्योति): दृष्टि शब्द के इकारान्त स्त्रील्लिङ्ग शब्द के शब्द रूप, दृष्टि (Drashti) शब्द के अंत में “इ” की मात्रा का प्रयोग...Read more !

स्वामिन् (स्वामी) शब्द के रूप (Svaamin Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Svamin Shabd स्वामिन् शब्द (स्वामी, Masterman, मालिक, प्रभु, पति, शौहर, ईश्वर, भगवान्, Lord, God): स्वामिन् शब्द के नकारान्त पुल्लिंग शब्द के शब्द रूप, स्वामिन् (Swamin) शब्द के अंत में “न्”...Read more !

कारण शब्द के रूप – Karan Ke Shabd Roop – Sanskrit

Karan Shabd कारण शब्द (वजह, सबब, हेतु): कारण शब्द के अकारान्त नपुंसकलिंग शब्द के शब्द रूप, कारण (Karan) शब्द के अंत में “अ” की मात्रा का प्रयोग हुआ इसलिए यह...Read more !

विधि शब्द के रूप (Bidhi Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Bidhi Shabd विधि शब्द (कोई कार्य करने की रीति, कार्यक्रम, प्रणाली, ढंग, नियम, कायदा): विधि शब्द के इकारांत पुल्लिंग शब्द के शब्द रूप, विधि (Bidhi) शब्द के अंत में “इ”...Read more !