एकांकी और एकांकीकार – लेखक और रचनाएँ, हिन्दी

EKANKI AUR EKANKIKAR - HINDI

हिन्दी की एकांकी और एकांकीकार

हिन्दी की प्रथम एकांकीजयशंकर प्रसाद‘ द्वारा रचित “एक घूँट” है। एक अंक वाले नाटक को एकांकी कहा जाता है। हिन्दी में ‘एकांकी’ जो अंग्रेजी ‘वन एक्ट प्ले‘ के लिए हिन्दी नाम है, आधुनिक काल में हिन्दी के अंग्रेजी से संपर्क का परिणाम है, पर भारत के लिए यह साहित्य रूप नया बिल्कुल नहीं है। प्रो. अमरनाथ ने कहा है- “एकांकी नाटक हिन्दी में सर्वथा नवीनतम कृति है। इसका जन्म हिन्दी साहित्य में अंग्रेजी के प्रभाव के कुछ वर्ष पूर्व ही हुआ है।”

हिन्दी की एकांकी और एकांकीकार की प्रमुख लेखकों और रचनाओं की लिस्ट-

एकांकी और एकांकीकार

क्रम एकांकी एकांकीकार
1. तन-मन-धन गुसाँई जी के अर्पण राधाचरण गोस्वामी
2. शिक्षादान बालकृष्ण भट्ट
3. जनेऊ का खेल देवकीनंदन खत्री
4. चार वेचारे, अफजल बध, भाई मियाँ ‘उग्र’
5. आनरेरी मजिस्ट्रेट, राजपूत की हार, प्रताप प्रतिज्ञा सुदर्शन
6. एक घूँट जयशंकर प्रसाद
7. रेशमी टाई, चारुमित्रा, विभूति, सप्तकिरण, औरंगजेब की आखिरी रात, पृथ्वी राज की आँखें, एक तोले अफीम की कीमत, दीपदान, दस मिनट, चंगेज खाँ, कौमुदी महोत्सव, मयूरपंख, जूही के फूल, 18 जुलाई की शाम, एक्ट्रेस डॉ० रामकुमार वर्मा
8. ताँबे के कीड़े, आजादी की नींद, सिकंदर, एक साम्यहीन साम्यवादी, प्रतिभा का विवाह, स्ट्राइक, बाजीराव की तस्वीर, फोटोग्राफर के सामने, लाटरी, श्यामा भुवनेश्वर
9. आत्मदान, दस हजार, एक ही कब्र में विस्फोट, समस्या का अंत, निर्दोष की रक्षा, बीमार का इलाज उदयशंकर भट्ट
10. लक्ष्मी का स्वागत, जोंक, अधिकार का रक्षक, अंधी गली, अंजो दीदी, सूखी डाली, स्वर्ग की झलक, भंवर, मोहब्बत, आपस का समझौता, छः एकांकी, साहब को जुकाम है, विवाह के दिन, देवताओं की छाया में अश्क
11. भोर का तारा, रीढ़ की हड्डी, मकड़ी का जाला, मेरी बाँसुरी, ओ मेरे सपने, कबूतरखाना जगदीशचंद्र माथुर
12. ईद और होली, फाँसी, प्रायश्चित्त, एकादमी सेठ गोविंददास
13. स्वप्नों के चित्र, दिमागी ऐयाशी रामनरेश त्रिपाठी
14. सबसे बड़ा आदमी भगवतीचरण वर्मा
15. प्रकाश और परछाई, पापी इन्सान, दस बजे रात, गहरा सागर, क्या वह दोषी था, वापसी विष्णु प्रभाकर
16. श्र स्वर्ग में विप्लव, कटोरी में कमल, मुक्ति का रहस्य राजयोग लक्ष्मी नारायण मिश्र
17. टकराहट जैनेंद्र
18. ल पर्वत के पीछेबहुरंगी, ताजमहल के आँसू, औलादी का बेटा, दूसरा दरवाजा लक्ष्मीनारायण लाल
19. नदी प्यासी थी, नीली झील, संगमरमर पर एक रात, सृष्टि का आखिरी आदमी, आवाज का नीलाम धर्मवीर भारती
20. गली के मोड़ पर, गाँधी की राह पर, पागलखाने में पंचकन्या, वधू चाहिए प्रभाकर माचवे
21. मातृमंदिर, राष्ट्रमंदिर, न्यायमंदिर, वाणीमंदिर हरिकृष्ण ‘प्रेमी’
22. अंडे के छिलके, प्यालियाँ टूटती हैं, सिपाही की माँ, छतरियाँ, बहुत बड़ा सवाल, हाँ! करफ्यू मोहन राकेश
23. उमरकैद गिरिजाकुमार माथुर
24. पत्थर और परछाई मार्कण्डेय

महत्वपूर्ण विधाओं के रचनाकार और रचनाएँ (लेखक और रचनाएँ)

उपन्यास-उपन्यासकार, कहानी-कहानीकार, नाटक-नाटककार, एकांकी-एकांकीकार, आलोचना-आलोचक, निबंध-निबंधकार, आत्मकथा-आत्मकथाकार, जीवनी-जीवनीकार, संस्मरण-संस्मरणकार, रेखाचित्र-रेखाचित्रकार, यात्राव्रतांत-यात्राव्रतांतकार, रिपोर्ताज-रचनाकार

Related Posts

हिन्दी साहित्य – काल विभाजन, वर्गीकरण, नामकरण और इतिहास

हिन्दी साहित्य (Hindi Sahitya) ने अपनी शुरुआत लोकभाषा कविता के माध्यम से की और गद्य का विकास बहुत बाद में हुआ। हिन्दी का आरम्भिक साहित्य अपभ्रंश में मिलता है। हिन्दी भारत और...Read more !

भारतेंदु युग – कवि और उनकी रचनाएँ, रचना एवं रचनाकार

भारतेन्दु युग (1850 ई०-1900 ई०) भारतेंदु युग का नामकरण हिंदी नवजागरण के अग्रदूत भारतेंदु हरिश्चंद्र (1850-1885 ई०) के नाम पर किया गया है। भारतेंदु युग की प्रवृत्तियां नवजागरण, सामाजिक, चेतना,...Read more !

बुंदेली – बुंदेली बोली – बुंदेलखंडी भाषा – पश्चिमी हिन्दी

बुंदेली – बुंदेलखंडी बुंदेली– बुंदेलखण्ड की भाषा को बुंदेली अथवा बुंदेलखण्डी कहा जाता है। चम्बल और यमुना नदियों तथा जबलपुर, रीवां और विन्ध्य पर्वत के बीच के प्रदेश को बुंदेलखण्ड...Read more !

प्रमुख दर्शन और उनके प्रवर्तक – Darshan & Pravartak

Darshan दर्शन (Philosophy): दर्शन उस विधा को कहा जाता है जिसके द्वारा तत्व का साक्षात्कार हो सके, दर्शन का अर्थ है तत्व का साक्षात्कार; मानव के दुखों की निवृति के...Read more !

प्रश्नवाचक क्रियाविशेषण – परिभाषा, उदाहरण, भेद एवं अर्थ

परिभाषा प्रश्न वाचक क्रियाविशेषण वे शब्द होते हैं जिनकी सहायता से हम प्रश्न करते है या जिनके योग से प्रश्न किए जाए प्रश्नवाचक क्रियाविशेषण कहलाते है। उदाहरण कदा, अथ् किम्...Read more !