प्रत्येक गद्य विधा के प्रमुख रचनाकार एवं रचनाएँ

VIDHA KE PRAMUKH RACHNAKAR AND RACHNAYEN - HINDI

हिन्दी की विधाओं के प्रमुख रचनाकार

इस प्रष्ठ प्रत्येक गद्य विधा के प्रमुख रचनाकार एवं रचनाएँ की सूची के बारे में चर्चा की गई हैं। इस लिस्ट में से अक्सर बोर्ड एवं अन्य हिन्दी की परीक्षाओं में प्रश्न पूछे जाते हैं। प्रत्येक विधा के दो प्रमुख रचनाकार और उनकी रचनाएँ उनके सामने वाले कॉलम में दी हुई हैं।

विधा के प्रमुख रचनाकार एवं रचनाएँ की सूची

क्रम विधा विधा के प्रमुख रचनाकार कृतियाँ (रचनाएँ)
1. निबन्ध 1. आचार्य रामचन्द्र शुक्ल;
2. आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी
-चिन्तामणि, रसमीमांसा;
-अशोक के फूल, कुटज
2. नाटक 1. जयशंकर प्रसाद;
2. मोहन राकेश
-ध्रुवस्वामिनी, चन्द्रगुप्त;
-आषाढ़ का एक दिन, लहरों के राजहंस
3. एकांकी 1. डॉ. रामकुमार वर्मा;
2. उपेन्द्रनाथ अश्क
-दीपदान, रेशमी टाई;
-चरवाहे, अन्धी गली
4. कहानी 1. प्रेमचन्द;
2. मन्नू भण्डारी
-शतरंज के खिलाड़ी, कफन (कहानियाँ) प्रेम द्वादशी, प्रेम पचीसी (कहानी संकलन);
-यही सच है, बन्द दरवाजों का साथ
5. उपन्यास 1. प्रेमचन्द;
2. भगवतीचरण वर्मा
-गोदान, गबन;
-टेढ़े-मेढ़े रास्ते, चित्रलेखा
6. आत्मकथा 1. हरिवंशराय बच्चन;
2. बाबू गुलाबराय
-क्या भूलें क्या याद करूँ, बसेरे से दूर (चार खण्डों में प्रकाशित आत्मकथा);
-मेरी असफलताएँ
7. जीवनी 1. अमृतराय;
2. विष्णु प्रभाकर
-कलम का सिपाही (प्रेमचन्द की जीवनी);
-आवारा मसीहा (शरतचन्द्र की जीवनी)
8. संस्मरण 1. महादेवी वर्मा;
2. बनारसीदास चतुर्वेदी
-पथ के साथी;
-संस्मरण
9. रेखाचित्र 1. रामवृक्ष बेनीपुरी;
2. महादेवी वर्मा
-माटी की मूरतें, लाल तारा;
-अतीत के चलचित्र, स्मृति की रेखाएँ
10. गद्यकाव्य 1. रायकृष्णदास;
2. वियोगी हरि
-साधना, छायापथ;
-तरंगिणी
11. रिपोर्ताज 1. कन्हैयालाल मिश्र ‘प्रभाकर’;
2. राहुल सांकृत्यायन
-क्षण बोले कण मुस्काए;
-तूफानों के बीच
12. यात्रा-वृत्त 1. राहुल सांकृत्यायन;
2. सेठ गोविंददास
-रूस में पच्चीस मास, मेरी तिब्बत यात्रा;
-पृथ्वी परिक्रमा, सुदूर दक्षिण-पूर्व
13. भेटवार्ता 1. पद्मसिंह शर्मा ‘कमलेश’;
2. रणवीर रांग्रा
-मैं इनसे मिला;
-सजन की मनोभूमि, साहित्यिक साक्षात्कार
14. डायरी 1. रामधारी सिंह ‘दिनकर’;
2. मोहन राकेश
-दिनकर की डायरी;
-मोहन राकेश की डायरी

You may like these posts

कहानी और कहानीकार – लेखक और रचनाएँ, हिंदी

हिंदी की कहानियाँ और कहानीकार हिन्दी की पहली कहानी “इन्दुमती” है। इसका रचनाकाल 1900 ई. है। इसके रचनाकार या लेखक “किशोरीलाल गोस्वामी” हैं। उन्नीसवीं सदी में गद्य में एक नई...Read more !

रीति काल – उत्तर मध्य काल – रीतिकालीन हिंदी साहित्य का इतिहास

रीतिकाल या मध्यकालीन साहित्य रीतिकाल साहित्य (Reetikaal Hindi Sahitya) का समयकाल 1650 ई० से 1850 ई० तक माना जाता है।  नामांकरण की दृष्टि से उत्तर-मध्यकाल हिंदी साहित्य के इतिहास में विवादास्पद...Read more !

आपका एक share किसी कैंसर पीड़ित को बचा सकता है । कैंसर का ये उपाय जरूर देखें !

मित्रो कैंसर हमारे देश मे बहुत तेज़ी से बड़ रहा है । हर साल बीस लाख लोग कैंसर से मर रहे है और हर साल नए Cases आ रहे है...Read more !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *