शोभन शब्द के रूप, स्त्रीलिंग – Shobhan Ke Roop, Striling – Sanskrit

Shobhan Striling Shabd

शोभन शब्द : अकारांत स्त्रीलिंग विशेषण शब्द , इस प्रकार के सभी अकारांत स्त्रीलिंग विशेषण शब्दों के शब्द रूप (Shabd Roop) इसी प्रकार बनाते है। संस्कृत व्याकरण एवं भाषा में शब्द रूप अति महत्व रखते हैं। और धातु रूप (Dhatu Roop) भी बहुत ही आवश्यक होते हैं।

शोभन-स्त्रीलिंग के शब्द रूप इस प्रकार हैं-

शोभन के शब्द रूप, स्त्रीलिंग – Shobhan Shabd Roop, Striling

विभक्ति एकवचन द्विवचन बहुवचन
प्रथमा शोभना शोभने शोभनाः
द्वितीया शोभनाम् शोभने शोभना
तृतीया शोभनया शोभनाभ्याम् शोभनाभिः
चतुर्थी शोभनायै शोभनाभ्याम् शोभनाभ्यः
पंचमी शोभनायाः शोभनाभ्याम् शोभनाभ्यः
षष्ठी शोभनायाः शोभनयोः शोभनानाम्
सप्तमी शोभनायाम् शोभनयोः शोभनासु
सम्बोधन हे शोभने ! हे शोभने ! हे शोभनाः !

अन्य महत्वपूर्ण शब्द रूप

महत्वपूर्ण शब्द रूप की Shabd Roop List देखें और साथ में shabd roop yad karane ki trick भी, सभी शब्द रूप संस्कृत में।

Shabd roop of Shobhan, Striling -Image

Shobhan Shabd Roop, Striling

Related Posts

कतर शब्द के रूप (Katar Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Katar Shabd कतर शब्द (कतर प्रायद्वीप पर स्थित एक अरब देश): कतर शब्द के अकारांत शब्द के शब्द रूप, कतर (Katar) शब्द के अंत में “अ” की मात्रा का प्रयोग...Read more !

बुद्धि शब्द के रूप – Buddhi ke roop, Shabd Roop – Sanskrit

Buddhi Shabd बुद्धि शब्द: इकारान्त स्त्रीलिंग संज्ञा, सभी इकारान्त स्त्रीलिंग संज्ञापदों के शब्द रूप इसी प्रकार बनाते है। बुद्धि के रूप – Shabd Roop विभक्ति एकवचन द्विवचन बहुवचन प्रथमा बुद्धिः...Read more !

विधु शब्द के रूप (Vidhu Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Vidhu Shabd विधु शब्द (चद्रंमा, वायु, कपूर, ब्रह्मा, विष्णु ): विधु शब्द के उकारान्त पुल्लिङ्ग शब्द के शब्द रूप, विधु (Vidhu) शब्द के अंत में ‘उ’ की मात्रा का प्रयोग...Read more !

उत्पत्ति शब्द के रूप – Utpatti Ke Shabd Roop – Sanskrit

Utpatti Shabd उत्पत्ति शब्द (उत्पन्न होने की अवस्था, क्रिया या भाव ): उत्पत्ति शब्द के इकारान्त स्त्रील्लिङ्ग शब्द के शब्द रूप, उत्पत्ति (Utpatti) शब्द के अंत में “इ” की मात्रा...Read more !

अश्व शब्द के रूप – Ashwa Ke Roop – संस्कृत

अश्व शब्द अश्व  शब्द : अकारांत पुल्लिंग संज्ञा , सभी पुल्लिंग संज्ञाओ के रूप इसी प्रकार बनाते है जैसे -देव, बालक, राम, वृक्ष, सूर्य, सुर, असुर, मानव, अश्व, गज, ब्राह्मण, क्षत्रिय,...Read more !