मृत्यु शब्द के रूप – Mrityu Ke Roop, Shabd Roop – Sanskrit

Mratyu Shabd

मृत्यु शब्द (death, स्वर्गवास): उकारान्त पुंल्लिंग शब्द , इस प्रकार के सभी उकारान्त पुल्लिंग शब्दों के शब्द रूप (Shabd Roop) इसी प्रकार बनाते है।

मृत्यु के शब्द रूप – Mrityu Shabd Roop

विभक्ति एकवचन द्विवचन बहुवचन
प्रथमा मृत्युः मृत्यू मृत्यवः
द्वितीया मृत्युम् मृत्यू मृत्यून्
तृतीया मृत्युना मृत्युभ्याम् मृत्युभिः
चतुर्थी मृत्यवे मृत्युभ्याम् मृत्युभ्यः
पंचमी मृत्योः मृत्युभ्याम् मृत्युभ्यः
षष्ठी मृत्योः मृत्य्वोः मृत्यूनाम्
सप्तमी मृत्यौ मृत्य्वोः मृत्युषु
सम्बोधन हे मृत्यो ! हे मृत्यू ! हे मृत्यवः !

अन्य महत्वपूर्ण शब्द रूप

महत्वपूर्ण शब्द रूप की Shabd Roop List देखें और साथ में shabd roop yad karane ki trick भी, सभी शब्द रूप संस्कृत में।

Shabd roop of Mratyu -Image

Mratyu Shabd Roop

Related Posts

शोभन शब्द के रूप, नपुंसकलिंग – Shobhan Ke Roop, Napunsak ling – Sanskrit

Shobhan Napunsak ling Shabd शोभन शब्द : अकारांत नपुंसकलिंग विशेषण शब्द , इस प्रकार के सभी अकारांत नपुंसकलिंग विशेषण शब्दों के शब्द रूप (Shabd Roop) इसी प्रकार बनाते है। शोभन...Read more !

विपत्ति शब्द के रूप – Vipatti Ke Shabd Roop – Sanskrit

Vipatti Shabd विपत्ति शब्द ( संकट, आपत्ति, मुसीबत, यातना, calamity, disaster, fatality, adversity): विपत्ति शब्द के इकारान्त स्त्रील्लिङ्ग शब्द के शब्द रूप, विपत्ति (Vipatti) शब्द के अंत में “इ” की...Read more !

स्थायिन् शब्द के रूप – Sthayin Ke Roop, Shabd Roop – Sanskrit

Sthayin Shabd स्थायिन् शब्द (टिकाऊ/स्थायी, permanent/durable): इन् भागान्त शब्द , इस प्रकार के सभी इन् भागान्त शब्दों के शब्द रूप (Shabd Roop) इसी प्रकार बनाते है। जैसे – पथिन्, गुणिन्,...Read more !

रवि शब्द के रूप – Ravi Ke Roop, Shabd Roop – Sanskrit

Ravi Shabd रवि शब्द (सूरज, भास्कर, sun ): इकारांत पुंल्लिंग शब्द , इस प्रकार के सभी इकारांत पुल्लिंग शब्दों के शब्द रूप (Shabd Roop) इसी प्रकार बनाते है। रवि जैसे...Read more !

अन्यतम शब्द के रूप (Anyatam Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Anyatam Shabd अन्यतम शब्द (Superior, सर्वश्रेष्ठ, सबसे बड़ा): अन्यतम शब्द के अकारान्त नपुंसकलिंग शब्द के शब्द रूप, अन्यतम (Anyatam) शब्द के अंत में ‘अ’ का प्रयोग हुआ इसलिए यह अकारान्त...Read more !