ष्ठिव्-ष्ठीव् (थूकना) धातु के रूप – Shtheev, Shthiv Dhatu Roop – संस्कृत

Shtheev, Shthiv Dhatu

ष्ठिव्-ष्ठीव् धातु (थूकना, to spit): ष्ठिव्-ष्ठीव् धातु भ्वादिगणीय धातु शब्द है। अतः Shtheev, Shthiv Dhatu के Dhatu Roop की तरह ष्ठिव्-ष्ठीव् जैसे सभी भ्वादिगणीय धातु के धातु रूप (Dhatu Roop) इसी प्रकार बनाते है।
ष्ठिव्-ष्ठीव् धातु का गण (Conjugation): भ्वादिगण (प्रथम गण – First Conjugation)
ष्ठिव्-ष्ठीव् का अर्थ: ष्ठिव्-ष्ठीव् का अर्थ थूकना, to spit होता है।

ष्ठिव्-ष्ठीव् के धातु रूप (Dhatu Roop of Shtheev, Shthiv) – परस्मैपदी

ष्ठिव्-ष्ठीव् धातु के धातु रूप संस्कृत में सभी लकारों, पुरुष एवं तीनों वचन में ष्ठिव्-ष्ठीव् धातु रूप (Shtheev, Shthiv Dhatu Roop) नीचे दिये गये हैं।

1. लट् लकार – वर्तमान काल

पुरुष एकवचन द्विवचन वहुवचन
प्रथम पुरुष ष्ठेवति ष्ठेवत: ष्ठेवन्ति
मध्यम पुरुष ष्ठेवसि ष्ठेवथः ष्ठेवथ
उत्तम पुरुष ष्ठेवामि ष्ठेवावः ष्ठेवामः

2. लोट् लकार – अनुज्ञा

पुरुष एकवचन द्विवचन वहुवचन
प्रथम पुरुष ष्ठेवतु ष्ठेवताम् ष्ठेवन्तु
मध्यम पुरुष ष्ठेव ष्ठेवतम् ष्ठेवत
उत्तम पुरुष ष्ठेवानि ष्ठेवाव ष्ठेवाम

3. लङ् लकार – भूतकाल

पुरुष एकवचन द्विवचन वहुवचन
प्रथम पुरुष अष्ठेवत् अष्ठेवातम् अष्ठेवन्
मध्यम पुरुष अष्ठेवः अष्ठेवतम् अष्ठेवत
उत्तम पुरुष अष्ठेवम् अष्ठेवाव अष्ठेवाम

4. विधिलिङ् लकार – चाहिए के अर्थ में

पुरुष एकवचन द्विवचन वहुवचन
प्रथम पुरुष ष्ठेवेत् ष्ठेवेताम् ष्ठेवेयुः
मध्यम पुरुष ष्ठेवेः ष्ठेवेतम् ष्ठेवेत
उत्तम पुरुष ष्ठेवेयम् ष्ठेवेव ष्ठेवेम

5. लृट् लकार – भविष्यत्

पुरुष एकवचन द्विवचन वहुवचन
प्रथम पुरुष ष्ठेविष्यति ष्ठेविष्यतः ष्ठेविष्यन्ति
मध्यम पुरुष ष्ठेविष्यसि ष्ठेविष्यथः ष्ठेविष्यथ
उत्तम पुरुष ष्ठेविष्यामि ष्ठेविष्यावः ष्ठेविष्यामः

संस्कृत में शब्द रूप देखने के लिए Shabd Roop पर क्लिक करें और नाम धातु रूप देखने के लिए Nam Dhatu Roop पर जायें।

Related Posts

सद् / सीद् धातु के रूप – Seed / Sad Dhatu Roop – संस्कृत

Seed / Sad Dhatu सद् / सीद् धातु (दु:ख पाना, to be sad): सद् / सीद् धातु भ्वादिगणीय धातु शब्द है। अतः Seed / Sad Dhatu के Dhatu Roop की...Read more !

पठ् धातु के रूप – Path Ke Dhatu Roop – Sanskrit, All Lakar

Path Dhatu पठ् धातु (पढ़ना, to read): पठ् धातु भ्वादिगणीय धातु शब्द है। अतः Path Dhatu के Dhatu Roop की तरह पठ् जैसे सभी भ्वादिगणीय धातु के धातु रूप (Dhatu...Read more !

णिजन्त प्रकरण – संस्कृत में प्रेरणार्थक क्रिया – संस्कृत व्याकरण

Preranarthak Kriya प्रेरणार्थक क्रिया तट्प्रयोजको हेतुश्च – प्रेरणार्थक में धातु के आगे ‘णिच्‘ प्रत्यय का प्रयोग होता है। जब कर्त्ता किसी क्रिया को स्वयं ना करके किसी अन्य को करने...Read more !

या (जाना) धातु के रूप – Yaa Ke Dhatu Roop – संस्कृत

Yaa Dhatu या धातु (जाना, to go): या धातु अदादिगणीय धातु शब्द है। अतः Yaa Dhatu के Dhatu Roop की तरह या जैसे सभी अदादिगणीय धातु के धातु रूप (Dhatu...Read more !

हन् (मारना) धातु के रूप – Han Ke Dhatu Roop – संस्कृत

Han Dhatu हन् धातु (मारना, to kill): हन् धातु अदादिगणीय धातु शब्द है। अतः Han Dhatu के Dhatu Roop की तरह हन् जैसे सभी अदादिगणीय धातु के धातु रूप (Dhatu...Read more !