दीर्घ नपुंसकलिंग शब्द के रूप – Dirgh Napunsak Ling ke roop – Sanskrit

Dirgh Shabd

दीर्घ शब्द (Long): अकारांत नपुंसकलिंग विशेषण शब्द, नपुंसकलिंग में केवल प्रथमा और द्वितीया विभक्ति में परिवर्तन होता है वाकी के सभी रूप पुल्लिंग की भांति ही बनते हैं। सभी अकारांत नपुंसकलिंग विशेषण शब्दों के शब्द रूप (Shabd Roop) इसी प्रकार बनाते है। महत्वपूर्ण शब्द रूप की Shabd Roop List देखें और साथ में shabd roop yad karane ki trick भी, सभी शब्द रूप संस्कृत में।

दीर्घ नपुंसकलिंग के रूप – Dirgh Napunsak Ling Shabd Roop

विभक्ति एकवचन द्विवचन बहुवचन
प्रथमा दीर्घम् दीर्घे दीर्घाणि
द्वितीया दीर्घम् दीर्घे दीर्घाणि
तृतीया दीर्घेण दीर्घाभ्याम् दीर्घै
चतुर्थी दीर्घाय दीर्घाभ्याम् दीर्घेभ्यः
पंचमी दीर्घात् दीर्घाभ्याम् दीर्घेभ्यः
षष्ठी दीर्घस्य दीर्घयोः दीर्घाणाम्
सप्तमी दीर्घे दीर्घयोः दीर्घेषु
सम्बोधन हे दीर्घम् ! हे दीर्घे ! हे दीर्घाणि !

अन्य महत्वपूर्ण शब्द रूप

Shabd roop of Deergh Napunsak Ling

Dirgh Napunsak Ling Shabd Roop

Related Posts

ऋभुक्षिन् शब्द के रूप (Ribhukshin Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Ribhukshin Shabd ऋभुक्षिन् शब्द (ऋभुक्ष- इंद्र, स्वर्ग, वज्र): ऋभुक्षिन् शब्द के नकारान्त पुल्लिंग शब्द के शब्द रूप, ऋभुक्षिन् (Ribhukshin) शब्द के अंत में ‘न्’ की मात्रा का प्रयोग हुआ इसलिए...Read more !

चमू शब्द के रूप – Chamu Ke Shabd Roop – Sanskrit

Chamu Shabd चमू शब्द (फ़ौज, सेना): चमू शब्द के ऊकारान्त स्त्रील्लिङ्ग शब्द के शब्द रूप, चमू (Chamu) शब्द के अंत में “ऊ” की मात्रा का प्रयोग हुआ इसलिए यह ऊकारान्त...Read more !

लावण्य शब्द के रूप – Lavanya Ke Shabd Roop – Sanskrit

Lavanya Shabd लावण्य शब्द (लवणत्व, नमकीनपन, Salty): लावण्य शब्द के अकारान्त नपुंसकलिंग शब्द के शब्द रूप, लावण्य (Lavanya) शब्द के अंत में “अ” की मात्रा का प्रयोग हुआ इसलिए यह...Read more !

अद्स (वह) पुल्लिंग शब्द के रूप – Vah, Adas Pulling ke roop – Sanskrit

अद्स शब्द अद्स पुल्लिंग शब्द (That, वह): अद्स (वह) पुल्लिंग सर्वनाम, इदमादि – इदम् , अस्मद् , युष्मद् , अदस् शब्दो के रूप मे भेद होने के कारण अलग अलग...Read more !

दधि (दही) शब्द के रूप – Dadhi ke roop – Sanskrit

दधि शब्द के रूप दधि शब्द (दही, Curd): इकारान्त नपुंसकलिंग संज्ञा, सभी इकारान्त नपुंसकलिंग संज्ञापदों के रूप इसी प्रकार बनाते है। जैसे – सक्थि(जंधा), अस्थि, अक्षि आदि। दधि के रूप...Read more !