जगत् शब्द के रूप – Jagat ke Roop – Sanskrit

जगत् के शब्द रूप

जगत् शब्द (World, दुनिया): तकारान्त क्विवलिङ्ग शब्द , इस प्रकार के सभी नपुन्सकलिङ्ग शब्दों के शब्द रूप (Shabd Roop) इसी प्रकार बनाते है।

जगत् के रूप – Jagat Shabd Roop

विभक्ति एकवचन द्विवचन बहुवचन
प्रथमा जगत् / जगद् जगती जगन्ति
द्वितीया जगत् / जगद् जगती जगन्ति
तृतीया जगता जगद्भ्याम् जगद्भीः
चतुर्थी जगते जगद्भ्याम् जगदभ्यः
पंचमी जगतः जगद्भ्याम् जगदभ्यः
षष्ठी जगतः जगतोः जगताम्
सप्तमी जगति जगतोः जगत्सु
सम्बोधन हे जगत् ! हे जगती ! हे जगन्ति !

अन्य महत्वपूर्ण शब्द रूप

महत्वपूर्ण शब्द रूप की Shabd Roop List देखें और साथ में shabd roop yad karane ki trick भी, सभी शब्द रूप संस्कृत में।

Shabd roop of Jagat

Jagat Shabd Roop

You may like these posts

शोभन शब्द के रूप, स्त्रीलिंग – Shobhan Ke Roop, Striling – Sanskrit

Shobhan Striling Shabd शोभन शब्द : अकारांत स्त्रीलिंग विशेषण शब्द , इस प्रकार के सभी अकारांत स्त्रीलिंग विशेषण शब्दों के शब्द रूप (Shabd Roop) इसी प्रकार बनाते है। संस्कृत व्याकरण...Read more !

बाला शब्द के रूप – संस्कृत | Bala Shabd Roop in Sanskrit

बाला शब्द (Bala Shabd): बाला अजंत आकारान्त स्त्रीलिंग संज्ञा शब्द है। सभी आकारान्त स्त्रीलिंग संज्ञाओ के शब्द रूप इसी प्रकार बनाते हैं, जैसे- छात्रा, राधा, माला, छाया, छाता, तारा, लता,...Read more !

अंबु शब्द के रूप – Ambu Ke Shabd Roop – Sanskrit

Ambu Shabd अंबु शब्द (जल, नीर, Water): अंबु शब्द के उकारान्त नपुंसकलिंग शब्द के शब्द रूप, अंबु (Ambu) शब्द के अंत में “उ” की मात्रा का प्रयोग हुआ इसलिए यह...Read more !