चक्षुष् (चक्षु) शब्द के रूप (Chakshush Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Chakshush Shabd

चक्षुष् शब्द (‘चक्षुस्’ का समासगत रूप; चक्षु- दर्शनेंद्रिय, आँख, Eye, ): चक्षुष् शब्द के षकारांत नपुंसकलिंग शब्द के शब्द रूप, चक्षुष् (Chakshush) शब्द के अंत में “ष्” का प्रयोग हुआ इसलिए यह षकारांत हैं। अतः Chakshush Shabd के Shabd Roop की तरह चक्षुष् जैसे सभी षकारांत नपुंसकलिंग शब्दों के शब्द रूप (Shabd Roop) इसी प्रकार बनाते है। चक्षुष् शब्द के शब्द रूप संस्कृत में सभी विभक्तियों एवं तीनों वचन में शब्द रूप (Chakshush Shabd Roop) नीचे दिये गये हैं।

चक्षुष् के शब्द रूप – Shabd roop of Chakshush

विभक्तिएकवचनद्विवचनबहुवचन
प्रथमाचक्षुःचक्षुषीचक्षुंषि
द्वितीयाचक्षुःचक्षुषीचक्षुंषि
तृतीयाचक्षुषाचक्षुर्भ्याम्चक्षुर्भिः
चतुर्थीचक्षुषेचक्षुर्भ्याम्चक्षुर्भ्यः
पंचमीचक्षुषःचक्षुर्भ्याम्चक्षुर्भ्यः
षष्ठीचक्षुषःचक्षुषोःचक्षुषाम्
सप्तमीचक्षुषिचक्षुषोःचक्षुष्षु
सम्बोधनहे चक्षुः !हे चक्षुषी !हे चक्षुंषि !

चक्षुष् शब्द का अर्थ/मतलब

चक्षुष् शब्द का अर्थ दर्शनेंद्रिय, आँख, Eye, चक्षु होता है। चक्षुष् शब्द षकारांत शब्द है इसका मतलब भी ‘दर्शनेंद्रिय, आँख, Eye, चक्षु’ होता है।

चक्षुष् जैसे और महत्वपूर्ण शब्द रूप

उपर्युक्त शब्द रूप चक्षुष् शब्द के षकारांत नपुंसकलिंग शब्द के शब्द रूप हैं चक्षुष् जैसे शब्द रूप (Chakshush shabd Roop) देखने के लिए Shabd Roop List पर जाएँ।