जरा (बुढ़ापा) शब्द रूप – Jara ke Roop – Sanskrit

जरा शब्द के रूप

जरा शब्द (बुढ़ापा, Old Age): आकारांत स्त्रील्लिंग संज्ञा, सभी आकारांत स्त्रील्लिंग संज्ञापदों के शब्द रूप इसी प्रकार बनाते है।

जरा के शब्द रूप – Jara/Budapa Shabd Roop

विभक्ति एकवचन द्विवचन बहुवचन
प्रथमा जरा जरसौ / जरे जरसः / जराः
द्वितीया जरसम् / जराम् जरसौ / जरे जरसः / जराः
तृतीया जरसा / जरया जराभ्याम् जराभिः
चतुर्थी जरसे / जरायै जराभ्याम् जराभ्यः
पंचमी जरसः / जरायाः जराभ्याम् जराभ्यः
षष्ठी जरसः / जरायाः जरसोः / जरयोः जरसाम् / जराणाम्
सप्तमी जरसि / जरायाम् जरसोः / जरयोः जरासु
संबोधन हे जरे ! हे जरसौ / जरे ! हे जरसः / जराः !

नोट: द्वितीया और तृतीया शब्द की चतुर्थी, पञ्चमी, षष्ठी, सप्तमी के एकवचन में दो-दो रूप होते हैं। इसी तरह तृतीया विभक्ति का भी रूप चलता है।

अन्य महत्वपूर्ण शब्द रूप

Shabd Roop of Jara in Photo (save as pdf )

jara shabd roop

Related Posts

तस्थिवस् शब्द के रूप – Tasthivas Ke Shabd Roop – Sanskrit

Tasthivas Shabd तस्थिवस् शब्द (जो खड़ा है, खड़ा है): तस्थिवस् शब्द के सकारान्त पुल्लिङ्ग शब्द के शब्द रूप, तस्थिवस् (Tasthivas) शब्द के अंत में “स्” का प्रयोग हुआ इसलिए यह...Read more !

ककुभ् शब्द के रूप – Kakubh Ke Roop, Shabd Roop – Sanskrit

Kakubh Shabd ककुभ् शब्द (दिशा, अर्जुन वृक्ष): भकारान्त पुंल्लिंग शब्द , इस प्रकार के सभी भकारान्त पुल्लिंग शब्दों के शब्द रूप (Shabd Roop) इसी प्रकार बनाते है। संस्कृत व्याकरण एवं...Read more !

विद्या शब्द के रूप (Vidya Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Vidya Shabd विद्या शब्द (शिक्षा, ज्ञान, बोध): विद्या शब्द के आकारान्त स्त्रीलिङ्ग शब्द के शब्द रूप, विद्या (Vidya) शब्द के अंत में ‘आ’ की मात्रा का प्रयोग हुआ इसलिए यह...Read more !

अवनति शब्द के रूप – Avanati Ke Shabd Roop – Sanskrit

Avanati Shabd अवनति शब्द (सामान्य स्थिति से नीचे गिरना, गिरावट, झुकाव): अवनति शब्द के इकारान्त स्त्रील्लिङ्ग शब्द के शब्द रूप, अवनति (Avanati) शब्द के अंत में “इ” की मात्रा का...Read more !

मेधाविन् (मेधावी) शब्द के रूप (Medhavin Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Medhavin Shabd मेधाविन् शब्द (मेधावी, ज्ञानी, तीव्र बुद्धिवाला, brilliant): मेधाविन् शब्द के नकारान्त पुल्लिंग शब्द के शब्द रूप, मेधाविन् (Medhavin) शब्द के अंत में “न्” का प्रयोग हुआ इसलिए यह...Read more !