विश्वपा शब्द के रूप – Vishvapa ke roop – Sanskrit

विश्वपा शब्द के रूप

विश्वपा शब्द (विश्व के रक्षक): आकारांत पुल्लिंग संज्ञा, सभी आकारांत पुल्लिंग संज्ञापदों के शब्द रूप इसी प्रकार बनाते है जैसे – गोपा (गाय के रक्षक), शंखध्मा(शंख वादक), सोमपा(सोमरस पीने वाला), धूम्रपा(धूम्रपान करनेवाला), बलदा(बल देने वाला) आदि।

विश्वपा के शब्द रूप – Vishvapa Shabd Roop

विभक्ति एकवचन द्विवचन बहुवचन
प्रथमा विश्वपाः विश्वपौ विश्वपाः
द्वितीया विश्वपाम् विश्वपौ विश्वपः
तृतीया विश्वपा विश्वपाभ्याम् विश्वपाभिः
चतुर्थी विश्वपे विश्वपाभ्याम् विश्वपाभ्यः
पंचमी विश्वपः विश्वपाभ्याम् विश्वपाभ्यः
षष्ठी विश्वपः विश्वपोः विश्वपाम्
सप्तमी विश्वपि विश्वपोः विश्वपासु
संबोधन हे विश्वपाः ! हे विश्वपौ ! हे विश्वपाः !

कुछ अन्य महत्वपूर्ण शब्द रूप –

  1. गोपा (गाय के रक्षक)
  2. शंखध्मा(शंख वादक)
  3. सोमपा(सोमरस पीने वाला)
  4. धूम्रपा (धूम्रपान करनेवाला)
  5. बलदा(बल देने वाला)

Shabd Roop of Vishvapa (image/pdf)

Vishvapa Shabd Roop

You may like these posts

विद्यावत् (विद्यावान्) शब्द के रूप (Vidyaavat Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Vidyaavat Shabd विद्यावत् शब्द (विद्वान्, Academically, विद्यामंत): विद्यावत् शब्द के तकारांत डवतु प्रत्ययान्त पुल्लिङ्ग शब्द के शब्द रूप, विद्यावत् (Vidyaavat) शब्द के अंत में “त्” का प्रयोग हुआ इसलिए यह...Read more !

केयूर शब्द के रूप (Keyoor Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Keyoor Shabd केयूर शब्द (बिजायठ, बजुल्ला, अंगद, बहुँठा, भुजबंद, भुजभूषण): केयूर शब्द के अकारान्त नपुंसकलिंग शब्द के शब्द रूप, केयूर (Keyoor) शब्द के अंत में ‘अ’ का प्रयोग हुआ इसलिए...Read more !

अघर शब्द के रूप (Aghar Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Aghar Shabd अघर शब्द (लालची, स्वादलोलुप): अघर शब्द के अकारान्त पुल्लिंग शब्द के शब्द रूप, अघर (Aghar) शब्द के अंत में “अ” का प्रयोग हुआ इसलिए यह अकारान्त हैं। अतः...Read more !