वर्षाभू शब्द के रूप (Varshabhu Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Varshabhu Shabd

वर्षाभू शब्द (भेक, दादुर, मेढक): वर्षाभू शब्द के ऊकारान्त स्त्रीलिङ्ग शब्द के शब्द रूप, वर्षाभू (Varshabhu) शब्द के अंत में ‘ऊ’ की मात्रा का प्रयोग हुआ इसलिए यह ऊकारान्त हैं। अतः Varshabhu Shabd के Shabd Roop की तरह वर्षाभू जैसे सभी ऊकारान्त स्त्रीलिङ्ग शब्दों के शब्द रूप (Shabd Roop) इसी प्रकार बनाते है। वर्षाभू शब्द के शब्द रूप संस्कृत में सभी विभक्तियों एवं तीनों वचन में शब्द रूप (Varshabhu Shabd Roop) नीचे दिये गये हैं।

वर्षाभू के शब्द रूप – Shabd roop of Varshabhu

विभक्ति एकवचन द्विवचन बहुवचन
प्रथमा वर्षाभूः वर्षाभ्वौ वर्षाभ्वः
द्वितीया वर्षाभूम् वर्षाभ्वौ वर्षाभून्
तृतीया वर्षाभ्वा वर्षाभूभ्याम् वर्षाभूभिः
चतुर्थी वर्षाभ्वे वर्षाभूभ्याम् वर्षाभूभ्यः
पंचमी वर्षाभ्वः वर्षाभूभ्याम् वर्षाभूभ्यः
षष्ठी वर्षाभ्वः वर्षाभ्वौ वर्षाभ्वाम्
सप्तमी वर्षाभ्विः वर्षाभ्वौ वर्षाभूषु
सम्बोधन हे वर्षाभूः ! हे वर्षाभ्वौ ! हे वर्षाभ्वः !

वर्षाभू शब्द का अर्थ/मतलब

वर्षाभू शब्द का अर्थ भेक, दादुर, मेढक होता है। वर्षाभू शब्द ऊकारान्त शब्द है इसका मतलब भी ‘भेक, दादुर, मेढक’ होता है।

वर्षाभू जैसे और महत्वपूर्ण शब्द रूप

उपर्युक्त शब्द रूप वर्षाभू शब्द के ऊकारान्त स्त्रीलिङ्ग शब्द के शब्द रूप हैं वर्षाभू जैसे शब्द रूप (Varshabhu shabd Roop) देखने के लिए Shabd Roop List पर जाएँ।

संस्कृत में धातु रूप देखने के लिए Dhatu Roop पर क्लिक करें और नाम धातु रूप देखने के लिए Nam Dhatu Roop पर जायें।

Related Posts

वक्तृ (वक्ता) शब्द के रूप (Vaktra Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Vaktra Shabd वक्तृ शब्द (वक्ता, सुंदर बोलनेवाला, उत्तम व्याख्यान देनेवाला, वाक् पटु): वक्तृ शब्द के ऋकारान्त पुल्लिंग शब्द के शब्द रूप, वक्तृ (Vaktra) शब्द के अंत में ‘ऋ’ की मात्रा...Read more !

वल्ली शब्द के रूप (Valli Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Valli Shabd वल्ली शब्द (लता, केवटी मोथा, कैवर्तिका): वल्ली शब्द के ईकारान्त स्त्रीलिंग शब्द के शब्द रूप, वल्ली (Valli) शब्द के अंत में ‘ई’ की मात्रा का प्रयोग हुआ इसलिए...Read more !

गद्य शब्द के रूप (Gady Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Gady Shabd गद्य शब्द (prose, गद्य, सुंदर साहित्य): गद्य शब्द के अकारान्त नपुंसकलिंग शब्द के शब्द रूप, गद्य (Gady) शब्द के अंत में ‘अ’ का प्रयोग हुआ इसलिए यह अकारान्त...Read more !

ईश्वर शब्द के रूप – Ishwar Ke Roop – संस्कृत

ईश्वर शब्द ईश्वर शब्द : अकारांत पुल्लिंग संज्ञा , सभी पुल्लिंग संज्ञाओ के रूप इसी प्रकार बनाते है जैसे -देव, बालक, राम, वृक्ष, सूर्य, सुर, असुर, मानव, अश्व, गज, ब्राह्मण, क्षत्रिय,...Read more !

शंस्तृ (शंस्ता) शब्द के रूप (Shanstr Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Shanstr Shabd शंस्तृ शब्द (स्तुति करनेवाला, प्रशंसक, स्तुतिपाठक): शंस्तृ शब्द के ऋकारान्त पुल्लिंग शब्द के शब्द रूप, शंस्तृ (Shanstr) शब्द के अंत में ‘ऋ’ की मात्रा का प्रयोग हुआ इसलिए...Read more !