माँ शारदे कहाँ तू वीणा – Maa Sharde Kaha Tu Veena Baja Rahi Hai – हिन्दी प्रार्थना/कविता/गीत

Maa Sharde Kaha Tu Veena Baja Rahi Hai
हिन्दी प्रार्थना/कविता/गीत: माँ शारदे कहाँ तू वीणा बजा रही हैं, किस मंजु ज्ञान से तू जग को लुभा रही हैं॥

माँ शारदे कहाँ तू, वीणा बजा रही हैं

माँ शारदे कहाँ तू,
वीणा बजा रही हैं,
किस मंजु ज्ञान से तू,
जग को लुभा रही हैं॥

किस भाव में भवानी,
तू मग्न हो रही है,
विनती नहीं हमारी,
क्यों माँ तू सुन रही है।

हम दीन बाल कब से,
विनती सुना रहें हैं,
चरणों में तेरे माता,
हम सर झुका रहे हैं।

मां शारदे कहाँ तू, वीणा…॥

अज्ञान तुम हमारा,
माँ शीघ्र दूर कर दो,
द्रुत ज्ञान शुभ्र हम में,
माँ शारदे तू भर दे ।
बालक सभी जगत के,
सूत मात हैं तुम्हारे,
प्राणों से प्रिय है हम,
तेरे पुत्र सब दुलारे,
तेरे पुत्र सब दुलारे।

मां शारदे कहाँ तू, वीणा…॥

हमको दयामयी तू,
ले गोद में पढ़ाओ,
अमृत जगत का हमको,
माँ ज्ञान का पिलाओ।
मातेश्वरी तू सुन ले,
सुंदर विनय हमारी,
करके दया तू हर ले,
बाधा जगत की सारी।

मां शारदे कहाँ तू, वीणा…॥


Maa Sharde Kaha Tu Veena Baja Rahi Hai

maan sarade kahan tu,
veena baja rahee hain,
kis manju gyaan se too,
jag ko lun rahee hain.

kis bhaav mein bhavaanee,
too magn ho rahee hai,
vinatee nahin hamaaree,
maan too sun kyon rahee hai.

ham deen baal kab se,
vinatee sun rahe hain,
surakshit sthaan par maata,
ham sar bahak rahe hain.

maan shaarade kahaan too, veena….

tum mera,
praanrabh door kar do,
dravit gyaan shubhr ham mein,
maan shaarade too bhar de .
baalak sabhee jagat ke,
soot maata hain tum,
praanon se priy hai ham,
tere bete sab dulaare,
tere bete sab dulaare.

maan shaarade kahaan too, veena….

hamako dayaamayee too,
le kod mein padhen,
amrt ​​jagat ka hamako,
maan gyaan ka pilao.
maateshvaree too sun le,
sundar vinay hamaaree,
karake too har le,
baadha jagat kee sabhee.

maan shaarade kahaan too, veena….

अन्य हिन्दी प्रार्थना/कविता/गीत/वंदना: सुबह सवेरे लेकर तेरा नाम प्रभु, वह शक्ति हमें दो दया निधे, पूजनीय प्रभु हमारे भाव उज्वल कीजिये, तू ही राम है तू रहीम है, इतनी शक्ति हमें देना दाता, जयति जय जय माँ सरस्वती, तुम्हीं हो माता पिता तुम्हीं हो, दया कर दान विद्या का, मानवता के मन मन्दिर में, माँ शारदे कहाँ तू वीणा, हम होंगे कामयाब एक दिन, हमको मन की शक्ति देना, हर देश में तू हर भेष में तू, हे प्रभो आनंद-दाता ज्ञान हमको दीजिए, हे शारदे माँ, हे हंसवाहिनी ज्ञानदायिनी, ऐ मालिक तेरे बंदे हम, वर दे वीणावादिनी वर दे

You may like these posts

जयति जय जय माँ सरस्वती – Jayati jay jay Maa Saraswati – हिन्दी प्रार्थना/कविता/गीत/सरस्वती वंदना

जयति जय जय माँ सरस्वती जयति जय जय माँ सरस्वती, जयति वीणा धारिणी॥ जयति जय पद्मासन माता, जयति शुभ वरदायिनी। जयति जय जय माँ सरस्वती, जयति वीणा धारिणी॥ जगत का...Read more !

इतनी शक्ति हमें देना दाता – Itni Shakti Hame Dena Data – हिन्दी प्रार्थना/कविता/गीत/वंदना

‘इतनी शक्ति हमें देना दाता’ (Itni shakti hamen dena data) नामक गीत अभिलाष (Abhilash) द्वारा लिखा गया जो देश-विदेश में लोकप्रिय हुआ। देश के कई स्कूलों में इस गाने को...Read more !

पूजनीय प्रभु हमारे भाव उज्वल कीजिये – Pujniya Prabhu Hamare Bhav Ujjwal Kijiye – हवन यज्ञ प्रार्थना/कविता/गीत/वंदना, हिन्दी

भगवान के लिए एक सुंदर प्रार्थना, मेरे विचारों को शुद्ध करें यदि मन और विचारों में एक अच्छी भावना है तो सब कुछ प्राप्त किया जा सकता है। यज्ञ प्रथा,...Read more !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *