जयति जय जय माँ सरस्वती – Jayati jay jay Maa Saraswati – हिन्दी प्रार्थना/कविता/गीत/सरस्वती वंदना

Jayati jay jay Maa Saraswati
हिन्दी प्रार्थना/कविता/गीत/सरस्वती वंदना: जयति जय जय माँ सरस्वती, जयति वीणा धारिणी॥ जयति जय पद्मासन माता, जयति शुभ वरदायिनी।

जयति जय जय माँ सरस्वती

जयति जय जय माँ सरस्वती,
जयति वीणा धारिणी॥

जयति जय पद्मासन माता,
जयति शुभ वरदायिनी।

जयति जय जय माँ सरस्वती,
जयति वीणा धारिणी॥

जगत का कल्याण कर माँ,
तुम हो वीणा वादिनी।

जयति जय जय माँ सरस्वती,
जयति वीणा धारिणी॥

कमल आसन छोड़कर आ,
देख मेरी दुर्दशा मां।

जयति जय जय माँ सरस्वती,
जयति वीणा धारिणी॥

ज्ञान की दरिया बहा दे,
हे सकल जगतारणी।

जयति जय जय माँ सरस्वती,
जयति वीणा धारिणी॥


Jayati jay jay Maa Saraswati

jayati jay jay maan sarasvatee,
jayati veena dhaarinee.

jayati jay padmaasan maata,
jayati shubh varadaayinee.

jayati jay jay maan sarasvatee,
jayati veena dhaarinee.

jagat ka kalyaan kar maan,
tum ho veena vaadinee.

jayati jay jay maan sarasvatee,
jayati veena dhaarinee.

kamal aasan chhod aa,
dekh meree durdasha maan.

jayati jay jay maan sarasvatee,
jayati veena dhaarinee.

gyaan kee dariya baha de,
he sakal jagataaranee.

jayati jay jay maan sarasvatee,
jayati veena dhaarinee.

अन्य हिन्दी प्रार्थना/कविता/गीत/वंदना: सुबह सवेरे लेकर तेरा नाम प्रभु, वह शक्ति हमें दो दया निधे, पूजनीय प्रभु हमारे भाव उज्वल कीजिये, तू ही राम है तू रहीम है, इतनी शक्ति हमें देना दाता, जयति जय जय माँ सरस्वती, तुम्हीं हो माता पिता तुम्हीं हो, दया कर दान विद्या का, मानवता के मन मन्दिर में, माँ शारदे कहाँ तू वीणा, हम होंगे कामयाब एक दिन, हमको मन की शक्ति देना, हर देश में तू हर भेष में तू, हे प्रभो आनंद-दाता ज्ञान हमको दीजिए, हे शारदे माँ, हे हंसवाहिनी ज्ञानदायिनी, ऐ मालिक तेरे बंदे हम, वर दे वीणावादिनी वर दे

You may like these posts

वर दे, वीणावादिनी वर दे – Var de veena vadini var de – प्रार्थना/कविता/गीत/सरस्वती वंदना

‘वीणा वादिनी वर दे‘ नामक प्रसिद्ध कविता सूर्य कान्त त्रिपाठी निराला जी द्वारा लिखित है। भारत के कई हिन्दी भाषी स्कूलों में इसे प्रार्थना के रूप में स्वीकार किया गया...Read more !

ऐ मालिक तेरे बंदे हम – Ae malik tere bande hum – हिंदी प्रार्थना/गीत/कविता/वंदना

‘ऐ मालिक तेरे बंदे हम ऐसे हो हमारे करम’ लिखने वाले गीतकार ‘भरत व्यास’ थे। भारत व्यास (Bharat Vyaas: 1918-1982) एक प्रसिद्ध भारतीय गीतकार थे, जिन्होंने 1950 और 1960 के...Read more !

मानवता के मन मन्दिर में – Manavta ke Man Mandir me – हिन्दी प्रार्थना/कविता/गीत/वंदना

मानवता के मन मन्दिर में मानवता के मन मन्दिर में, ज्ञान का दीप जला दो, करुणा निधान भगवान मेरे, भारत को स्वर्ग बना दो॥ करुणा निधान भगवान मेरे, भारत को...Read more !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *