श्चुत संधि – स्तो श्चुनाश्चु – Schutv Sandhi, संस्कृत व्याकरण

Schutv Sandhi

श्चुत्व संधि

श्चुत संधि का सूत्र स्तो श्चुनाश्चु होता है। यह संधि व्यंजन संधि के भागो में से एक है। संस्कृत में व्यंजन संधियां कई प्रकार की होती है। इनमें से श्चुत संधि, ष्टुत्व संधि, जश्त्व संधि प्रमुख हैं। इस पृष्ठ पर हम श्चुत संधि का अध्ययन करेंगे !

श्चुत संधि (श्चुत्व संधि) के नियम

जब ‘‘ अथवा त-वर्ग के बाद च-वर्ग आये तो संधि करते समय ‘स’ को “” में, तथा त-वर्ग को च-वर्ग मे बदल देते हैं ।

त वर्ग च वर्ग
त् च्
थ् छ्
द् ज्
ध् झ्
न्

श्चुत संधि के उदाहरण

  • सत् + चरित्र = सच्चरित्र
  • जगत् + जननी = जगज्जननी
  • कस् + चित्  = कश्चित्
  • निस् + छल: = निश्छल:
  • उत् + चारणम् = उच्चारणम्
  • सद् + जन: = सज्जन:
  • दुस् + चरित्र = दुश्चरित्र:
  • तद् + जय: = तज्जय:
  • हरिस् + शेते = हरिशेते

Related Posts

Sanskrit Names of animals and birds – संस्कृत

आसपास की वस्तुएँ एवं पशु-पक्षियों (animals and birds) के नाम की जानकारी- सामान्य रूप से जब हम किसी की छात्र भी भाषायी ज्ञान कराते हैं तो उसके अन्तर्गत प्रमुख रूप...Read more !

यण् संधि – इकोऽयणचि – Yan Sandhi, Sanskrit Vyakaran

यण् संधि यण् संधि का सूत्र इकोऽयणचि होता है। यह संधि स्वर संधि के भागो में से एक है। संस्कृत में स्वर संधियां आठ प्रकार की होती है। दीर्घ संधि,...Read more !

Sanskrit (संस्कृत) – What is Sanskrit? History, Origin and Country of Sanskrit

Sanskrit (संस्कृतम्) is a language of ancient India with a documented history of about 4000 years. It is the primary liturgical language of Hinduism; the predominant language of most works...Read more !

स्त्री प्रत्यय (Stree Pratyay) – परिभाषा, भेद और उनके उदाहरण – संस्कृत व्याकरण

स्त्री प्रत्यय स्त्रीलिंग बनानेवाले प्रत्ययों को ही स्त्री प्रत्यय कहते हैं। स्त्री प्रत्यय धातुओं को छोड़कर अन्य शब्दों संज्ञा विशेषण आदि सभी के अंत में जुड़े होते हैं। स्त्री प्रत्यय...Read more !

Reptiles name in English, Hindi and Sanskrit – List and table

In this chapter you will know the names of Reptiles name in Hindi, Sanskrit and English. We are going to discuss Reptiles name’s List & Table in Hindi, Sanskrit &...Read more !