जलमुच् (मेघ, Cloud) शब्द के रूप – Jalmuch Shabd Roop in Sanskrit

जलमुच् शब्द

जलमुच् शब्द (मेघ, Cloud): चकारान्त पुल्लिंग शब्द, सभी चकारान्त पुल्लिंग शब्दों के शब्द रूप इसी प्रकार बनाते है। परंतु तिर्य्यच् , प्रत्यच् , उदच् आदि आदि शब्दों के रूप कुछ अलग होते हैं। स्त्रीलिंग में प्राची, प्रतीची, उदीची आदि ईकारांत हो जाते हैं।

जलमुच् के शब्द रूप – Jalmuch Shabd Roop

विभक्ति एकवचन द्विवचन बहुवचन
प्रथमा जलमुक् जलमुचौ जलमुच:
द्वितीया जलमुचम् जलमुचौ जलमुच:
तृतीया जलमुचा जल्मुग्भ्याम् जलमुग्भि:
चतुर्थी जलमुचे जल्मुग्भ्याम् जलमुग्भ्य:
पन्चमी जलमुच: जल्मुग्भ्याम् जलमुग्भ्य:
षष्ठी जलमुच: जलमुचो: जलमुचाम्
सप्तमी जलमुचि जलमुचो: जलमुक्षु
सम्बोधन हे जलमुक् ! हे जलमुचौ ! हे जलमुच: !

अन्य महत्वपूर्ण शब्द रूप

Shabd roop of Jalmuch

Jalmuch chakarant shabd roop

Related Posts

उदर शब्द के रूप – Udar Ke Shabd Roop – Sanskrit

Udar Shabd उदर शब्द ( आमाशय, पेट): उदर शब्द के अकारान्त नपुंसकलिंग शब्द के शब्द रूप, उदर (Udar) शब्द के अंत में “अ” की मात्रा का प्रयोग हुआ इसलिए यह...Read more !

क्रीडा शब्द के रूप (Krida Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Krida Shabd क्रीडा शब्द (Game, Sports, खेल, खेलकूद, परिहास, मनोविनोद): क्रीडा शब्द के आकारान्त स्त्रीलिङ्ग शब्द के शब्द रूप, क्रीडा (Krida) शब्द के अंत में ‘आ’ की मात्रा का प्रयोग...Read more !

श्रेयसी शब्द के रूप (Sreyasi Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Sreyasi Shabd श्रेयसी शब्द (हरीतकी, हर्रे, पाठा, पाठी, गज पीपल, रास्ना, यंगु, कल्याणमयी, श्रेययुक्ता): श्रेयसी शब्द के ईकारान्त पुल्लिंग शब्द के शब्द रूप, श्रेयसी (Sreyasi) शब्द के अंत में ‘ई’...Read more !

क्षत्रिय के शब्द रूप – Kshatriya ke roop – संस्कृत

क्षत्रिय शब्द क्षत्रिय शब्द : अकारांत पुल्लिंग संज्ञा , सभी पुल्लिंग संज्ञाओ के रूप इसी प्रकार बनाते है जैसे -देव, बालक, राम, वृक्ष, सूर्य, सुर, असुर, मानव, अश्व, गज, ब्राह्मण, क्षत्रिय,...Read more !

मघवन् शब्द के रूप – Maghavan Ke Roop, Shabd Roop – Sanskrit

Maghavan Shabd मघवन् शब्द (इन्द्र, King of the Gods – Indra): ‘अन्’ भागान्त पुंल्लिंग शब्द , इस प्रकार के सभी ‘अन्’ भागान्त पुल्लिंग शब्दों के शब्द रूप (Shabd Roop) इसी...Read more !