हरि शब्द के रूप – Hari ke Roop – Sanskrit

हरि के शब्द रूप

हरि शब्द : इकारांत पुंल्लिंग शब्द , इस प्रकार के सभी इकारांत पुल्लिंग शब्दों के शब्द रूप (Shabd Roop) इसी प्रकार बनाते है।

हरि के रूप – Hari Shabd Roop

विभक्ति एकवचन द्विवचन बहुवचन
प्रथमा हरिः हरी हरयः
द्वितीया हरिं हरी हरीन्
तृतीया हरिणा हरिभ्याम् हरिभिः
चतुर्थी हरये हरिभ्याम् हरिभ्यः
पंचमी हरेः हरिभ्याम् हरिभ्यः
षष्ठी हरेः हर्योः हरीणां
सप्तमी हरौ हर्योः हरिषु
सम्बोधन हे हरे ! हे हरी ! हे हरयः !

अन्य महत्वपूर्ण शब्द रूप

महत्वपूर्ण शब्द रूप की Shabd Roop List देखें और साथ में shabd roop yad karane ki trick भी, सभी शब्द रूप संस्कृत में।

Shabd roop of Hari -Image

Hari Shabd Roop

You may like these posts

वीरूध् शब्द के रूप – Virudh Ke Roop, Shabd Roop – Sanskrit

Virudh Shabd वीरूध् शब्द (लता, creeper): धकारान्त स्त्रीलिन्ग शब्द , इस प्रकार के सभी धकारान्त स्त्रीलिन्ग शब्दों के शब्द रूप (Shabd Roop) इसी प्रकार बनाते है। संस्कृत व्याकरण एवं भाषा...Read more !

भगवत् शब्द के रूप (Bhagavat Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Bhagavat Shabd भगवत् शब्द (ईश्वर, परमेश्वर, विष्णु, शिव, बुद्ध, कार्तिकेय, सूर्य): भगवत् शब्द के तकारान्त पुल्लिङ्ग शब्द के शब्द रूप, भगवत् (Bhagavat) शब्द के अंत में ‘त’ की मात्रा का...Read more !

कथा शब्द के रूप (Katha Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Katha Shabd कथा शब्द (वह जो कही जाय, बात, धर्मविषयक व्याख्यान या आख्यान): कथा शब्द के आकारान्त स्त्रीलिङ्ग शब्द के शब्द रूप, कथा (Katha) शब्द के अंत में ‘आ’ की...Read more !