ईषु शब्द के रूप – Ishu Ke Shabd Roop – Sanskrit

Ishu Shabd

ईषु शब्द (Ishu Shabd Roop): ईषु शब्द के उकारांत पुल्लिंग शब्द के शब्द रूप, अर्थात ईषु (Ishu) शब्द के अंत में “उ” की मात्रा का प्रयोग हुआ इसलिए यह उकारांत हैं। अत: Ishu Shabd के Shabd Roop की तरह इसके जैसे सभी उकारांत पुल्लिंग शब्दों के शब्द रूप (Shabd Roop) इसी प्रकार बनाते है। ईषु शब्द के शब्द रूप संस्कृत में सभी विभक्तियों एवं तीनों वचन में शब्द रूप (Ishu Shabd Roop) नीचे दिये गये हैं।

ईषु के शब्द रूप – Shabd roop of Ishu

विभक्ति एकवचन द्विवचन बहुवचन
प्रथमा ईषुः ईषू ईषवः
द्वितीया ईषुम् ईषू ईषून्
तृतीया ईषुणा ईषुभ्याम् ईषुभिः
चतुर्थी ईषवे ईषुभ्याम् ईषुभ्यः
पंचमी ईषोः ईषुभ्याम् ईषुभ्यः
षष्ठी ईषोः ईष्वोः ईषूणाम्
सप्तमी ईषौ ईष्वोः ईषुषु
सम्बोधन हे ईषो ! हे ईषू ! हे ईषवः !

महत्वपूर्ण शब्द रूप एवं धातु रूप

उपर्युक्त शब्द रूप ईषु शब्द के उकारांत पुल्लिंग शब्द के शब्द रूप हैं ईषु जैसे शब्द रूप (Ishu shabd Roop) देखने के लिए Shabd Roop List पर जाएँ।

Related Posts

नभस् शब्द के रूप – Nabhas Ke Roop, Shabd Roop – Sanskrit

Nabhas Shabd नभस् शब्द (आकाश, sky): अकारांत स्त्रीलिंग शब्द , इस प्रकार के सभी अकारांत स्त्रीलिंग शब्दों के शब्द रूप (Shabd Roop) इसी प्रकार बनाते है। नभस् के शब्द रूप...Read more !

तीर्थ शब्द के रूप – Tirth Ke Shabd Roop – Sanskrit

Tirth Shabd तीर्थ शब्द (वह स्थान जहाँ लोग पूजा-पाठ, देवी-देवता के दर्शन और पर्यटन के लिए जाते हैं): तीर्थ शब्द के अकारान्त नपुंसकलिंग शब्द के शब्द रूप, तीर्थ (Tirth) शब्द...Read more !

सर्प शब्द के रूप (Sarp Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Sarp Shabd सर्प शब्द (सर्प, रेंगना, दगाबाज़, Snake): सर्प शब्द के अकारान्त पुल्लिंग शब्द के शब्द रूप, सर्प (Sarp) शब्द के अंत में “अ” का प्रयोग हुआ इसलिए यह अकारान्त...Read more !

केतु शब्द के रूप – Ketu Ke Shabd Roop – Sanskrit

Ketu Shabd केतु शब्द (पुराणो के अनुसार एक राक्षस का नाम जो नौ ग्रहों में से एक माना जाता है): केतु शब्द के उकारांत पुल्लिंग शब्द के शब्द रूप, अर्थात...Read more !

कलत्र शब्द के रूप – Kalatra Ke Shabd Roop – Sanskrit

Kalatra Shabd कलत्र शब्द (पत्नी, भार्या): कलत्र शब्द के अकारान्त नपुंसकलिंग शब्द के शब्द रूप, कलत्र (Kalatra) शब्द के अंत में “अ” की मात्रा का प्रयोग हुआ इसलिए यह अकारान्त...Read more !