श्वश्रू शब्द के रूप – Shvasru Ke Shabd Roop – Sanskrit

Shvasru Shabd

श्वश्रू शब्द ( पति या पत्नी की माता, श्वसुर की स्त्री- सास): श्वश्रू शब्द के ऊकारान्त स्त्रील्लिङ्ग शब्द के शब्द रूप, श्वश्रू (Shvasru) शब्द के अंत में “ऊ” की मात्रा का प्रयोग हुआ इसलिए यह ऊकारान्त हैं। अतः Shvasru Shabd के Shabd Roop की तरह श्वश्रू जैसे सभी ऊकारान्त स्त्रील्लिङ्ग शब्दों के शब्द रूप (Shabd Roop) इसी प्रकार बनाते है। श्वश्रू शब्द के शब्द रूप संस्कृत में सभी विभक्तियों एवं तीनों वचन में शब्द रूप (Shvasru Shabd Roop) नीचे दिये गये हैं।

श्वश्रू के शब्द रूप – Shabd roop of Shvasru

विभक्ति एकवचन द्विवचन बहुवचन
प्रथमा श्वश्रू श्वश्र्वौ श्वश्र्वः
द्वितीया श्वश्रूम् श्वश्र्वौ श्वश्रूः
तृतीया श्वश्र्वा श्वश्रूभ्याम् श्वश्रूभिः
चतुर्थी श्वश्र्वै श्वश्रूभ्याम् श्वश्रूभ्यः
पंचमी श्वश्र्वाः श्वश्रूभ्याम् श्वश्रूभ्यः
षष्ठी श्वश्र्वाः श्वश्र्वोः श्वश्रूनाम्
सप्तमी श्वश्र्वाम् श्वश्र्वोः वधुषु
सम्बोधन हे श्वस्रु ! हे श्वश्र्वौ ! हे श्वश्र्वः !

श्वश्रू शब्द का अर्थ/मतलब

श्वश्रू शब्द अर्थ पति या पत्नी की माता, श्वसुर की स्त्री- सास होता है। श्वश्रू शब्द ऊकारान्त शब्द है इसका मतलब भी ‘ पति या पत्नी की माता, श्वसुर की स्त्री- सास’ होता है।

श्वश्रू जैसे और महत्वपूर्ण शब्द रूप

उपर्युक्त शब्द रूप श्वश्रू शब्द के ऊकारान्त स्त्रील्लिङ्ग शब्द के शब्द रूप हैं श्वश्रू जैसे शब्द रूप (Shvasru shabd Roop) देखने के लिए Shabd Roop List पर जाएँ।

Related Posts

किम् (क्या/कौन) नपुंसकलिंग शब्द के रूप – Kim Napunsak Ling ke roop – Sanskrit

किम् नपुंसकलिंग शब्द के रूप किम् नपुंसकलिंग शब्द (क्या/कौन, Who/What): किम् (क्या/कौन) नपुंसकलिंग सर्वनाम, नपुंसकलिंग में प्रथमा और द्वितीया को छोडकर शेष सभी शब्द रूप पुल्लिंग की भाँति होते हैं।...Read more !

भिषज् (भिषक्) शब्द के रूप (Bhishaj Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Bhishaj Shabd भिषज् शब्द (वैद्य, चिकित्सक, ओषधि, दवा): भिषज् शब्द के जकारान्त पुल्लिङ्ग शब्द के शब्द रूप, भिषज् (Bhishaj) शब्द के अंत में ‘ज्’ की मात्रा का प्रयोग हुआ इसलिए...Read more !

सूर्य शब्द के रूप – Soorya ke roop – संस्कृत

सूर्य शब्द सूर्य शब्द : अकारांत पुल्लिंग संज्ञा , सभी पुल्लिंग संज्ञाओ के रूप इसी प्रकार बनाते है जैसे -देव, बालक, राम, वृक्ष, सूर्य, सुर, असुर, मानव, अश्व, गज, ब्राह्मण, क्षत्रिय,...Read more !

विश्ववाह् शब्द के रूप (Vishvavah Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Vishvavah Shabd विश्ववाह् शब्द (सबको धारण करनेवाला, सबका भरण पोषण करनेवाला): विश्ववाह् शब्द के हकारांत पुल्लिंग शब्द के शब्द रूप, विश्ववाह् (Vishvavah) शब्द के अंत में “ह्” का प्रयोग हुआ...Read more !

ग्लौ शब्द रूप – Glau ke roop – Sanskrit

ग्लौ शब्द के रूप ग्लौ शब्द (चन्द्रमा/कपूर): औकारांत पुल्लिंग संज्ञा, सभी औकारांत पुल्लिंग संज्ञापदों के शब्द रूप इसी प्रकार बनाते है। ग्लौ के शब्द रूप – Glau Shabd Roop विभक्ति...Read more !