संदेह और भ्रांतिमान अलंकार युग्म में अंतर

संदेह और भ्रांतिमान

जहां समानता के कारण अनिश्चय की स्थिति बनी रहती है वहां सन्देह अलंकार होता है। यथा-

कैघों व्योम बीथिका भरे हैं भूरि धूमकेतु
वीर रस वीर तरवारि सी उघारी है।

हनुमान की जलती हुई पूंछ को देखकर ऐसा लगता है था मानो आकाश मार्ग में अनेक धूमकेतु हैं या
ऐसा लगता था मानो वीररस रूपी वीर ने अपनी तलवार म्यान से बाहर निकाली है जो चारों और चमक रही।
है।

भ्रान्तिमान अलंकार में समानता के कारण एक वस्तु में दूसरी वस्तु का भ्रम हो जाता है यथा-

नाक का मोती अधर की कान्ति से
बीज दाड़िम का समझकर भ्रान्ति से।
देखकर सहसा हुआ शुक मौन है।
सोचता है अन्य शुक यह कौन है?

उर्मिला की नासिका की नथ का मोती अधरों की लालिमा से अनारदाने की भांति लग रहा है। उसे
अनार का बीज समझकर यह तोता यह सोच रहा है कि यह नासिका रूपी तोते की चोंच में अनार का दाना
है। इसीलिए यह पिंजरे का तोता सोच रहा है कि यह दूसरा तोता कौन सा है।

 सम्पूर्ण हिन्दी और संस्कृत व्याकरण

  • संस्कृत व्याकरण पढ़ने के लिए Sanskrit Vyakaran पर क्लिक करें।
  • हिन्दी व्याकरण पढ़ने के लिए Hindi Grammar पर क्लिक करें।

Related Posts

हिन्दी में वचन परिभाषा, भेद और उदाहरण सहित, Hindi Grammar

वचन की परिभाषा वचन का शब्दिक अर्थ संख्यावचन होता है। संख्यावचन को ही वचन कहते हैं। वचन का एक अर्थ कहना भी होता है। संज्ञा के जिस रूप से किसी...Read more !

उपसर्ग (Upsarg) – परिभाषा, भेद और उदाहरण- Upsarg in Hindi

उपसर्ग की परिभाषा संस्कृत एवं संस्कृत से उत्पन्न भाषाओं में उस अव्यय या शब्द को उपसर्ग (prefix) कहते हैं जो कुछ शब्दों के आरंभ में लगकर उनके अर्थों का विस्तार...Read more !

उपमा और रूपक अलंकार युग्म में अंतर

उपमा और रूपक  उपमा में उपमेय और उपमान की समानता बताई जाती है, यथा- हरि पद कोमल कमल से यहां ईश्वर के चरणों की समानता कमल की कोमलता से बताई...Read more !

संस्कृत विलोम शब्द (Vilom Shabd In Sanskrit) – संस्कृत

संस्कृत विलोम शब्द हिन्दी व्याकरण की तरह संस्कृत व्याकरण में भी विलोम शब्द होते हैं। इन विलोम शब्दों में ज्यादा अंतर नहीं होता है। इस प्रष्ठ पर कुछ महत्वपूर्ण संस्कृत...Read more !

समासोक्ति अलंकार – Samasokti Alankar परिभाषा उदाहरण अर्थ हिन्दी एवं संस्कृत

समासोक्ति अलंकार  ‘परोक्तिभेदकैः श्लिष्टैः समासोक्तिः’ – श्लेषयुक्त विशेषणों के द्वारा दो अर्थों का संक्षेप होने से समासोक्ति अलंकार होता है। यह अलंकार, Hindi Grammar के Alankar के भेदों में से...Read more !