पुरुष – परिभाषा, भेद एवं उदाहरण : हिन्दी व्याकरण, Purush in hindi

पुरुष की परिभाषा:

वे व्यक्ति जो संवाद के समय भागीदार होते हैं, उन्हें पुरुष कहा जाता है।

  • जैसे: मेरा नाम सचिन है।

इस वाक्य में वक्ता(सचिन) अपने बारे में बता रहा है। वह इस संवाद में भागीदार है एवं श्रोता भी।

पुरुष के प्रकार purush ke prakar

हिन्दी में तीन पुरुष होते हैं-

  • उत्तम पुरुष- मैं, हम
  • मध्यम पुरुष – तुम, आप
  • अन्य पुरुष- वह, राम आदि
Purush Ke Prakar

1. उत्तम पुरुष

यह वक्ता खुद होता है। वक्ता मैं, मुझे, मुझको, मेरा, मेरी आदि शब्दों का खुद के बारे में बताने के लिए करता है।

उत्तम पुरुष के कुछ उदाहरण:-

  • मैं खाना खाना चाहता हूँ।
  • मेरा नाम विकास है।
  • मैं दिल्ली में रहता हूँ।
  • मैं जयपुर जा रहा हूँ।
  • मैं दिन में तीन बार खाना खाता हूँ।
  • मेरे बहुत सारे दोस्त हैं।
  • मुझे स्कूल जाना पसंद है।
  • मेरे परिवार में चार सदस्य हैं।
  • मेरा घर मुंबई में है।
  • मेरे पापा बहुत अच्छे हैं।
  • मुझको बरसात पसंद है।
  • मुझको बारिश में भीगना पसंद नहीं है।

ऊपर दिए गए वाक्यों में वक्ता ‘मैं’,’मेरे’,’मुझे’, ‘मुझको’ आदि शब्दों का प्रयोग करके खुद के बारे में बता रहा है। अतः ये शब्द उत्तम पुरुष की श्रेणी में आयेंगे।

2. मध्यम पुरुष

मध्यम पुरुष श्रोता होता है जिससे वक्ता बात करता है। वक्ता श्रोता के लिए आप, तुम, तुमको, तुझे, तू आदि शब्दों का प्रयोग करता है।

मध्यम पुरुष के कुछ उदाहरण: 

  • मैं आपको कुछ दिखाना चाहता हूँ। 
  • तुम मुझे पसंद हो। 
  • तुमको किसी दूसरी जगह जाना चाहिए। 
  • जो मैंने तुझे कहा था वही करना है। 
  • तू बोलता है तो ठीक ही होगा। 
  • आप आज ठीक नहीं लग रहे। 
  • आजकल आप कहाँ रहते हैं ? 
  • तुम क्या कर रहे हो?
  • तुम जब तक आये तब तक वह चला गया। 
  • आप बाज़ार से सामान लेकर आओ।

ऊपर दिए वाक्यों में वक्ता ने ‘आपको’, ‘तुम’, ‘तुमको’, ‘तुझे’, ‘तू’, ‘आप’ आदि शब्द श्रोता के लिए किये हैं। अतः ये शब्द मध्यम पुरुष की श्रेणी में आते हैं।

3. अन्य पुरुष

अन्य पुरुष वह होता है जिस तीसरे आदमी के बारे में श्रोता और वक्ता बात करते है। यह, वह, ये, वे, आदि शब्द तेस्सरे व्यक्ति के बारे में बताने के लिए किये जाते हैं।

अन्य पुरुष के उदाहरण:

  • वह फुटबॉल बहुत अच्छा खेलता है। :
  • मैंने आपको बताया था वह पढाई में नहुत तेज़ है।
  •  वह अमेरिका जाने के सपने देख रहा है। 
  • उसका सपना एक दिन पूरा होगा। 
  • इनकी तुममे कोई रूचि नहीं है। 
  • इन्हें बाहर का रास्ता दिखादो।

ऊपर दिए गए वाक्यों में वक्ता ‘वह’, ‘उसका’, ‘इन्हें’ आदि शब्द प्रयोग करके किसी तीसरे व्यक्ति के बारे में श्रोता को बता रहा है। अतः ये शब्द्द अन्य पुरुष की श्रेणी में आयेंगे।

अन्य लेख पढ़ें:

हिन्दी व्याकरण

भाषा
वर्ण
शब्द
पद
वाक्य
संज्ञा
सर्वनाम
विशेषण
क्रिया
क्रिया विशेषण
समुच्चय बोधक
विस्मयादि बोधक
वचन
लिंग
कारक
पुरुष
उपसर्ग
प्रत्यय
संधि
छन्द
समास
अलंकार
रस
श्रंगार रस
विलोम शब्द
पर्यायवाची शब्द
अनेक शब्दों के लिए एक शब्द

Subject Wise Study :
Click Here

Related Posts

पद (Pad Parichay) – Phrases – पद क्या होता है ?

पद परिचय वाक्य में प्रयुक्त शब्द को पद कहा जाता है वाक्य में प्रयुक्त शब्दों में संज्ञा , सर्वनाम , विशेषण , क्रिया विशेषण , संबंधबोधक आदि अनेक शब्द होते...Read more !

व्यतिरेक अलंकार – Vyatirek Alankar परिभाषा और उदाहरण – हिन्दी & संस्कृत

व्यतिरेक अलंकार  परिभाषा: जहाँ कारण बताते हुए उपमेय की श्रेष्ठता उपमान से बताई जाए वहाँ व्यतिरेक अलंकार होता है। व्यतिरेक का शाब्दिक अर्थ होता है आधिक्य। व्यतिरेक में कारण का...Read more !

उपमा और रूपक अलंकार युग्म में अंतर

उपमा और रूपक  उपमा में उपमेय और उपमान की समानता बताई जाती है, यथा- हरि पद कोमल कमल से यहां ईश्वर के चरणों की समानता कमल की कोमलता से बताई...Read more !

वचन – परिभाषा, भेद और उदाहरण, Vachan in Hindi

वचन वचन का शाब्दिक अर्थ संख्यावचन होता है। संख्यावचन को ही वचन कहते हैं। वचन का एक अर्थ कहना भी होता है। संज्ञा के जिस रूप से किसी व्यक्ति ,...Read more !

म – से शुरू होने वाले पर्यायवाची शब्द (Paryayvachi Shabd)

(‘म’ से शुरू होने वाले पर्यायवाची) पर्याय का अर्थ है – समान। अतः समान अर्थ व्यक्त करने वाले शब्दों को पर्यायवाची शब्द (Synonym words) कहते हैं। इन्हें प्रतिशब्द या समानार्थक...Read more !