कारण शब्द के रूप – Karan Ke Shabd Roop – Sanskrit

Karan Shabd

कारण शब्द (वजह, सबब, हेतु): कारण शब्द के अकारान्त नपुंसकलिंग शब्द के शब्द रूप, कारण (Karan) शब्द के अंत में “अ” की मात्रा का प्रयोग हुआ इसलिए यह अकारान्त हैं। अतः Karan Shabd के Shabd Roop की तरह कारण जैसे सभी अकारान्त नपुंसकलिंग शब्दों के शब्द रूप (Shabd Roop) इसी प्रकार बनाते है। कारण शब्द के शब्द रूप संस्कृत में सभी विभक्तियों एवं तीनों वचन में शब्द रूप (Karan Shabd Roop) नीचे दिये गये हैं।

कारण के शब्द रूप – Shabd roop of Karan

विभक्ति एकवचन द्विवचन बहुवचन
प्रथमा कारणम् कारणे कारणानि
द्वितीया कारणम् कारणे कारणानि
तृतीया कारणेन कारणाभ्याम् कारणैः
चतुर्थी कारणाय कारणाभ्याम् कारणेभ्यः
पंचमी कारणात् कारणाभ्याम् कारणेभ्यः
षष्ठी कारणस्य कारणयोः कारणानाम्
सप्तमी कारणे कारणयोः कारणेषु
सम्बोधन हे कारणम् ! हे कारणे ! हे कारणानि !

कारण शब्द का अर्थ/मतलब

कारण शब्द अर्थ वजह, सबब, हेतु or काम, कार्य or साधन or मूल तत्व or प्रमाण होता है। कारण शब्द अकारान्त शब्द है इसका मतलब भी ‘वजह, सबब, हेतु’ होता है।

कारण जैसे और महत्वपूर्ण शब्द रूप

उपर्युक्त शब्द रूप कारण शब्द के अकारान्त नपुंसकलिंग शब्द के शब्द रूप हैं कारण जैसे शब्द रूप (Karan shabd Roop) देखने के लिए Shabd Roop List पर जाएँ।

Related Posts

भाग्य शब्द के रूप – Bhagya ke roop – Shabd Roop – Sanskrit

Bhagya Shabd भाग्य शब्द (Fortune): अकारान्त क्लिवलिङ्ग शब्द, सभी अकारान्त क्लिवलिङ्ग(नपुन्सकलिङ्ग्) शब्दों के शब्द रूप (Shabd Roop) इसी प्रकार बनाते है। भाग्य के रूप – Shabd Roop विभक्ति एकवचन द्विवचन...Read more !

आत्मघातिन् (आत्मघाती) शब्द के रूप (Atmaghaatin Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Atmaghaatin Shabd आत्मघातिन् शब्द (आत्मघाती, Suicidal ): आत्मघातिन् शब्द के नकारान्त पुल्लिंग शब्द के शब्द रूप, आत्मघातिन् (Atmaghaatin) शब्द के अंत में “न्” का प्रयोग हुआ इसलिए यह नकारान्त हैं।...Read more !

लक्ष्मी शब्द के रूप (Lakshmi Ke Shabd Roop) – संस्कृत

Lakshmi Shabd लक्ष्मी शब्द (हिंदुओं की एक प्रसिद्ध देवी): लक्ष्मी शब्द के ईकारान्त स्त्रीलिंग शब्द के शब्द रूप, लक्ष्मी (Lakshmi) शब्द के अंत में ‘ई’ की मात्रा का प्रयोग हुआ...Read more !

रेणु शब्द के रूप – Renu Ke Shabd Roop – Sanskrit

Renu Shabd रेणु शब्द ( धूल, रज ): रेणु शब्द के उकारान्त स्त्रील्लिङ्ग शब्द के शब्द रूप, रेणु (Renu) शब्द के अंत में “उ” की मात्रा का प्रयोग हुआ इसलिए...Read more !

एतद्/एतत् (यह) नपुंसकलिंग शब्द के रूप – Yah, Etad/Etat Napunsak Ling ke roop – Sanskrit

एतद् / एतत् नपुंसकलिंग शब्द के रूप एतद् / एतत् पुल्लिंग शब्द (This, यह): एतद् / एतत् (वह) नपुंसकलिंग सर्वनाम, नपुंसकलिंग में प्रथमा और द्वितीया को छोडकर शेष सभी शब्द...Read more !