ऋ , ए, ऐ , ओ और औ – से शुरू होने वाले पर्यायवाची शब्द (Paryayvachi Shabd)

(‘ऋ , ए, ऐ , ओ और औ’ से शुरू होने वाले पर्यायवाची) पर्याय का अर्थ है – समान। अतः समान अर्थ व्यक्त करने वाले शब्दों को पर्यायवाची शब्द (Synonym words) कहते हैं। इन्हें प्रतिशब्द या समानार्थक शब्द भी कहा जाता है। व्यवहार में पर्याय या पर्यायवाची शब्द ही अधिक प्रचलित हैं। विद्यार्थियों के अध्ययन हेतु पर्यायवाची शब्दों की सूची प्रस्तुत है-

ऋ - पर्यायवाची शब्द

‘ऋ’ से शुरू होने वाले पर्यायवाची शब्द

शब्द पर्यायवाची
ऋक्ष भालू, रीछ, भीलूक, भल्लाट, भल्लूक।
ऋक्षेश चंद्रमा, चंदा, चाँद, शशि, राकेश, कलाधर, निशानाथ।
ऋण कर्ज, कर्जा, उधार, उधारी।
ऋतुराज बहार, मधुमास, वसंत, ऋतुपति, मधुऋतु।
ऋषभ वृष, वृषभ, बैल, पुंगव, बलीवर्द, गोनाथ।
ऋषि साधु, महात्मा, मुनि, योगी, तपस्वी।
ऋष्यकेतु केमदेव, मकरकेतु, मकरध्वज, मदन, मनोज, मन्मथ।
ए  - पर्यायवाची शब्द

‘ए’ से शुरू होने वाले पर्यायवाची शब्द

शब्द पर्यायवाची
एकतंत्र राजतंत्र, एकछत्र, तानाशाही, अधिनायकतंत्र।
एकदंत गणेश, गजानन, विनायक, लंबोदर, विघ्नेश, वक्रतुंड।
एतबार विश्वास, यकीन, भरोसा।
एषणा इच्छा, आकेंक्षा, केमना, अभिलाषा, हसरत।
एहसान कृपा, अनुग्रह, उपकेर।
ऐ  - पर्यायवाची शब्द

‘ऐ’ से शुरू होने वाले पर्यायवाची शब्द

शब्द पर्यायवाची
ऐंठ कड़, दंभ, हेकड़ी, ठसक।
ऐब खामी, खराबी, कमी, अवगुण।
ऐयार धूर्त, मक्कार, चालाक।
ऐहिक सांसारिक, लौकिक, दुनियावी।
ऐक्य एकत्व, एका, एकता, मेल।
ऐश्वर्य समृद्धि, विभूति।
ओ - पर्यायवाची शब्द

‘ओ’ से शुरू होने वाले पर्यायवाची शब्द

शब्द पर्यायवाची
ओज तेज, शक्ति, बल, चमक, कान्ति, दीप्ति, वीर्य।
ओंठ ओष्ठ, अधर, लब, होठ।
ओला हिमगुलिका, उपल, करके, हिमोपल।
ओस नीहार, तुहिन, शबनम।
ओहार आवरण, परदा, आच्छादन।
औ - पर्यायवाची शब्द

‘औ’ से शुरू होने वाले पर्यायवाची शब्द

शब्द पर्यायवाची
औचक अचानक, यकेयक, सहसा।
औरत स्त्री, जोरू, घरनी, महिला, मानवी, तिरिया, नारी, वनिता, घरवाली।
औचित्य उपयुक्तता, तर्कसंगति, तर्कसंगतता।
औलाद संतान, संतति, आसऔलाद, बाल-बच्चे।
औषधालय चिकित्सालय, दवाखाना, अस्पताल।

पर्यायवाची शब्द सूची



इ, ई
उ, ऊ
ऋ,ए,ऐ,ओ,औ





छ,ज,ट,ठ
ड,ढ़,त,थ,द







य,र,ल,व
श,स,ष,ह

Paryayvachi Shabd

You may like these posts

प्रत्यय – परिभाषा, भेद और उदाहरण : हिन्दी व्याकरण, Pratyay in Hindi Grammar

प्रत्यय प्रत्यय वे शब्द होते हैं जो दूसरे शब्दों के अन्त में जुड़कर, अपनी प्रकृति के अनुसार, शब्द के अर्थ में परिवर्तन कर देते हैं। प्रत्यय शब्द दो शब्दों से...Read more !

विभावना अलंकार – Vibhavana Alankar परिभाषा, भेद और उदाहरण – हिन्दी

विभावना अलंकार परिभाषा – जहाँ पर कारण के न होते हुए भी कार्य का हुआ जाना पाया जाए वहाँ पर विभावना अलंकार होता है। अर्थात हेतु क्रिया (कारण) का निषेध...Read more !

समास – परिभाषा, भेद और उदाहरण- Samas In Hindi

Samas (समास) समास (Samas In Hindi): समास का तात्पर्य है ‘संक्षिप्तीकरण’। हिन्दी व्याकरण में समास का शाब्दिक अर्थ होता है छोटा रूप; अर्थात जब दो या दो से अधिक शब्दों...Read more !