घ – से शुरू होने वाले पर्यायवाची शब्द (Paryayvachi Shabd)

(‘घ’ से शुरू होने वाले पर्यायवाची) पर्याय का अर्थ है – समान। अतः समान अर्थ व्यक्त करने वाले शब्दों को पर्यायवाची शब्द (Synonym words) कहते हैं। इन्हें प्रतिशब्द या समानार्थक शब्द भी कहा जाता है। व्यवहार में पर्याय या पर्यायवाची शब्द ही अधिक प्रचलित हैं। विद्यार्थियों के अध्ययन हेतु पर्यायवाची शब्दों की सूची प्रस्तुत है-

घ - पर्यायवाची शब्द

‘घ’ से शुरू होने वाले पर्यायवाची शब्द

शब्द पर्यायवाची
घट घड़ा, कलश, कुम्भ, निप।
घर आलय, आवास, गेह, गृह, निकेतन, निलय, निवास, भवन, वास, स्थान, शाला, सदन।
घृत घी, अमृत, नवनीत।
घटना हादसा, वारदात, वाक्या।
घन मेघ, बादल, घटा, अंबुद, अंबुधर।
घपला गड़बड़ी, गोलमाल, घोटाला।
घमंड दंभ, दर्प, गर्व, गरूर, गुमान, अभिमान, अहंकार।
घुड़सवार अश्वारोही, तुरंगी, तुरंगारूढ़।
घुमक्कड़ भ्रमणशील, पर्यटक, यायावर।
घूँस घूस, रिश्वत, उत्कोच।
घोड़ा तुरंग, हय, घोट, घोटक, अश्व।
घास तृण, दूर्वा, दूब, कुश, शाद।

पर्यायवाची शब्द सूची



इ, ई
उ, ऊ
ऋ,ए,ऐ,ओ,औ





छ,ज,ट,ठ
ड,ढ़,त,थ,द







य,र,ल,व
श,स,ष,ह

Related Posts

विभावना अलंकार – Vibhavana Alankar परिभाषा, भेद और उदाहरण – हिन्दी

विभावना अलंकार परिभाषा – जहाँ पर कारण के न होते हुए भी कार्य का हुआ जाना पाया जाए वहाँ पर विभावना अलंकार होता है। अर्थात हेतु क्रिया (कारण) का निषेध...Read more !

प – से शुरू होने वाले पर्यायवाची शब्द (Paryayvachi Shabd)

(‘प’ से शुरू होने वाले पर्यायवाची) पर्याय का अर्थ है – समान। अतः समान अर्थ व्यक्त करने वाले शब्दों को पर्यायवाची शब्द (Synonym words) कहते हैं। इन्हें प्रतिशब्द या समानार्थक...Read more !

ग – से शुरू होने वाले पर्यायवाची शब्द (Paryayvachi Shabd)

(‘ग’ से शुरू होने वाले पर्यायवाची) पर्याय का अर्थ है – समान। अतः समान अर्थ व्यक्त करने वाले शब्दों को पर्यायवाची शब्द (Synonym words) कहते हैं। इन्हें प्रतिशब्द या समानार्थक...Read more !

वर्तनी – शब्द एवं वाक्य शुद्धीकरण, Shuddh ashuddh – हिन्दी व्याकरण

वर्तनी: किसी शब्द को लिखने मे प्रयुक्त वर्णो के क्रम को वर्तनी या अक्षरी कहते हैं। अँग्रेजी मे वर्तनी को ‘Spelling’ तथा उर्दू मे हिज्जे कहते हैं। किसी भाषा की समस्त...Read more !

स्वभावोक्ति अलंकार – Svabhavokti Alankar परिभाषा, भेद और उदाहरण – हिन्दी

स्वभावोक्ति अलंकार  परिभाषा– बालकादि की अपनी स्वाभाविक क्रिया अथवा रूप का वर्णन ही स्वभावोक्ति अलंकार है। अर्थात किसी वस्तु के स्वाभाविक वर्णन को स्वभावोक्ति अलंकार कहते हैं। यह अलंकार, हिन्दी...Read more !