छ, ज, झ, ट, ठ – से शुरू होने वाले पर्यायवाची शब्द (Paryayvachi Shabd)

(‘छ, ज, झ, ट, ठ’ से शुरू होने वाले पर्यायवाची) पर्याय का अर्थ है – समान। अतः समान अर्थ व्यक्त करने वाले शब्दों को पर्यायवाची शब्द (Synonym words) कहते हैं। इन्हें प्रतिशब्द या समानार्थक शब्द भी कहा जाता है। व्यवहार में पर्याय या पर्यायवाची शब्द ही अधिक प्रचलित हैं। विद्यार्थियों के अध्ययन हेतु पर्यायवाची शब्दों की सूची प्रस्तुत है-

छ  - पर्यायवाची शब्द

‘छ’ से शुरू होने वाले पर्यायवाची शब्द

शब्द पर्यायवाची
छतरी छत्र, छाता, छत्ता।
छली छलिया, कपटी, धोखेबाज।
छवि शोभा, सौंदर्य, कान्ति, प्रभा।
छानबीन जाँच, पूछताछ, खोज, अन्वेषण, शोध, गवेषण।
छैला सजीला, बाँका, शौकीन।
छँटनी कटौती, छँटाई, काट के पर्यायवाची – छाँट।
छटा शोभा, छवि, सुंदरता, खूबसूरती।
छल दगा, ठगी, फरेब, छलावा।
छाछ मही, मठा, मठ्ठा, लस्सी, छाछी।
छाती सीना, वक्ष, उर, वक्षस्थल।
छींटाकशी ताना, व्यंग्य, फब्ती, कटाक्ष।
छुटकारा मुक्ति, रिहाई, निजात।
छेरी बकरी, छागी, अजा।
छोर नोक, कोर, किनारा, सिरा।
ज  - पर्यायवाची शब्द

‘ज’ से शुरू होने वाले पर्यायवाची शब्द

शब्द पर्यायवाची
जल मेघपुष्प, अमृत, सलिल, वारि, नीर, तोय, अम्बु, उदक, पानी, जीवन, पय, पेय।
जहर गरल, कालकूट, माहुर, विष ।
जगत संसार, विश्व, जग, जगती, भव, दुनिया, लोक, भुवन।
जीभ रसना, रसज्ञा, जिह्वा, रसिका, वाणी, वाचा, जबान।
जंगल विपिन, कानन, वन, अरण्य, गहन, कांतार, बीहड़, विटप।
जेवर गहना, अलंकार, भूषण, आभरण, मंडल।
ज्योति आभा, छवि, द्युति, दीप्ति, प्रभा, भा, रुचि, रोचि।
जहाज पोत, जलयान।
जानकी सीता, वैदही, जनकसुता, मिथिलेशकुमारी, जनकतनया, जनकात्मजा।
जंग लड़ाई, संग्राम, समर, युद्ध।
जईफी वृद्धावस्था, बुढ़ापा, बुजुर्गी।
जत्था गुट, दल, समूह, टोली, गिरोह।
जनक तात, बाप, पिता, बप्पा, बापू, वालिद।
जननी माँ, माता, मम्मी, अम्मा, वालिदा।
जन्नत स्वर्ग, सुरधाम, बैकुंठ, सुरलोक, हरिधाम।
जन्मांध सूरदास, अंधा, आँधरा, नेत्रहीन।
जबह वध, हत्या, कत्ल, खून।
जम्हूरियत प्रजातंत्र, लोकतंत्र, लोकशाही, जनताशासन।
जमाई दामाद, जामाता, जँवाई।
जमीन धरती, भू, भूमि, पृथ्वी, धरा, वसुंधरा।
जय जीत, फतह, विजय।
जरठ वृद्ध, बुड्ढा, बूढ़ा।
जलाशय तालाब, तलैया, ताल, पोखर, सरोवर।
जवान तरुण, युवक, नौजवान, नौजवाँ, युवा।
जवानी युवावस्था, यौवन, तारुण्य, तरुणाई।
जहन्नुम नरक, दोजख, यमपुरी, यमलोक।
जहाज पोत, बेड़ा, जलयान, जलपोत।
जहीन बुद्धिमानी, अक्लमंद, मेधावी, मेधावान, तीक्ष्ण बुद्धि।
जाँघ उरु, जानु, जघन, जंघा, रान।
जाई बेटी, कन्या, पुत्री, लड़की।
जासूस गुप्तचर, भेदिया, खुफिया।
जिंदगी जिंदगानी, जीवन, हयात।
जिल्लत अपमान, तिरस्कार, अनादर, तौहीन, बेइज्जती।
जिस्म देह, बदन, शरीर, काया, वपु।
जीव रूह, प्राण, आत्मा, जीवात्मा।
जीविका रोजी के पर्यायवाची – रोटी, रोजी, आजीविका, वृत्ति।
जुल धोखा, फरेब, दगा, छल।
जुलाहा बुनकर, कोली, कोरी।
जोहड़ तालाब, तलैया, तड़ाग, सरोवर, जलाशय।
ज्ञानी विद्वान, सुविज्ञ, आलिम, विवेकी, ज्ञानवान।
ज्योत्स्ना चाँदनी, चंद्रप्रभा, कौमुदी, जुन्हाई।
झ - पर्यायवाची शब्द

‘झ’ से शुरू होने वाले पर्यायवाची शब्द

शब्द पर्यायवाची
झरना उत्स, स्रोत, प्रपात, निर्झर, प्रस्त्रवण।
झण्डा ध्वजा, पताका, केतु।
झंझा अंधड़, आँधी, बवंडर, झंझावत, तूफान।
झाँसा दगा, धोखा, फरेब, ठगी।
झींगुर घुरघुरा, झिल्ली, जंजीरा, झिल्लिका।
झूठ असत्य, मिथ्या, मृषा, अनृत।
ट - पर्यायवाची शब्द

‘ट’ से शुरू होने वाले पर्यायवाची शब्द

शब्द पर्यायवाची
टक्कर मुठभेड़, लड़ाई, मुकाबला।
टहलुआ नौकर, सेवक, खिदमतगार।
टाँग पाँव, पैर, टंक।
टीका तिलक, चिह्न, दाग, धब्बा।
टोना टोटका, जादू, यंत्रमंत्र, लटका।
टंटा झगड़ा, लफ़ड़ा, पचड़ा, झंझट।
टसुआ अश्क, अश्रु, आँसू।
टहनी डाल, डाली, वृंत, उपशाखा, प्रशाखा।
टहल सेवा, परिचर्या, खिदमत, सुश्रूषा।
टेर बुलावा के पर्यायवाची – गुहार, पुकार, आह्वान।
ठ - पर्यायवाची शब्द

‘ठ’ से शुरू होने वाले पर्यायवाची शब्द

शब्द पर्यायवाची
ठंड ठंड, शीत, सर्दी।
ठग छली, छलिया, फ़रेबी, वंचक, धूर्त, धोखेबाज।
ठाँव स्थान, जगह, ठिकाना।
ठिंगना बौना, वामन, नाटा।
ठीक उपयुक्त, उचित, मुनासिब।
ठेठ निपट, निरा, बिल्कुल।
ठटरी कंकाल, पंजर, अस्थिपंजर, ठठरी।
ठठोली मजाक, परिहास, ठट्ठा, ठिठोली, दिल्लगी।
ठन ठन गोपाल के पर्यायवाची – निर्धन, गरीब, दरिद्र, अकिंचन।
ठहाका कहकहा, अट्टहास, खिलखिलाना।
ठाकुरद्वारा मंदिर, देवालय, शिवाला, देवस्थान।
ठाली बेरोजगार, ठलुआ, बेकार।
ठिल्ली गगरी, गागर, घड़ा, मटकी।
ठुड्डी ठुड्डी, हनु, चिबुक, ठोड़ी।
ठेस चोट, आघात, धक्का।

पर्यायवाची शब्द सूची



इ, ई
उ, ऊ
ऋ,ए,ऐ,ओ,औ





छ,ज,ट,ठ
ड,ढ़,त,थ,द







य,र,ल,व
श,स,ष,ह

Related Posts

रस – परिभाषा, भेद और उदाहरण – हिन्दी व्याकरण, Ras in Hindi

Ras (रस)- रस क्या होते हैं? रस की परिभाषा रस : रस का शाब्दिक अर्थ है ‘आनन्द’। काव्य को पढ़ने या सुनने से जिस आनन्द की अनुभूति होती है, उसे...Read more !

संबंधवाचक सर्वनाम – Sambandh Vachak Sarvanam : हिन्दी व्याकरण

संबंधवाचक सर्वनाम वह सर्वनाम शब्द जो किसी वाक्य में प्रयुक्त संज्ञा अथवा सर्वनाम के संबंध का बोध कराएं उसे संबंधवाचक सर्वनाम कहते हैं जैसे – ‘ जो’ , ‘सो’ ,...Read more !

प्रत्यय – परिभाषा, भेद और उदाहरण : हिन्दी व्याकरण, Pratyay in Hindi Grammar

प्रत्यय प्रत्यय वे शब्द होते हैं जो दूसरे शब्दों के अन्त में जुड़कर, अपनी प्रकृति के अनुसार, शब्द के अर्थ में परिवर्तन कर देते हैं। प्रत्यय शब्द दो शब्दों से...Read more !

हिन्दी में वचन परिभाषा, भेद और उदाहरण सहित, Hindi Grammar

वचन की परिभाषा वचन का शब्दिक अर्थ संख्यावचन होता है। संख्यावचन को ही वचन कहते हैं। वचन का एक अर्थ कहना भी होता है। संज्ञा के जिस रूप से किसी...Read more !

अनेकार्थी शब्द, Anekarthak Shabd in Hindi – हिन्दी व्याकरण

अनेकार्थक शब्द अनेकार्थक शब्द का अभिप्राय है, किसी शब्द के एक से अधिक अर्थ होना। बहुत से शब्द ऐसे हैं, जिनके एक से अधिक अर्थ होते हैं। ऐसे शब्दोँ का अर्थ...Read more !