सामान्य वर्तमान काल – परिभाषा, वाक्य और उदाहरण – हिन्दी व्याकरण

Samanya Vartmankal

सामान्य वर्तमानकाल हिन्दी में – Hindi में Kaal के तीन भेद या प्रकार ‘भूतकाल, वर्तमान काल और भविष्य काल‘ आदि होते है। और वर्तमान काल को पुनः छः भेदों में विभक्त किया गया है ‘सामान्य वर्तमान काल, अपूर्ण वर्तमान काल/तत्कालिक वर्तमान काल, पूर्ण वर्तमान काल, संदिग्ध वर्तमान काल, संभाव्य वर्तमान काल, पूर्ण सातत्य वर्तमान काल’। इस प्रष्ठ में Vartaman kal में से “सामान्य वर्तमान काल” के वाक्य, परिभाषा और उदाहरण आदि की जानकारी दी गई है।

सामान्य वर्तमान काल (Samanya Vartmankal)

परिभाषा: क्रिया के जिस रूप से वर्तमान काल की क्रिया का सामान्य रूप से होना पाया जाए, उसे सामान्य वर्तमान काल (Simple Present Tense) कहते हैं। जैसे-

  • मैं पत्र लिखता हूँ।
  • राधा गाती है।

पहचान: जिन वाक्यों के अंत में ता है, ती है, ते है, ता हूँ, ती हूँ आदि आते हैं उसे सामान्य वर्तमान काल कहते है।

संरचना: सामान्य वर्तमानकाल के क्रियाओं की संरचना- धातु + ता है, धातु + ती है, धातु + ते है, धातु + ता हूँ, धातु + ती हूँ।

सामान्य वर्तमान काल के उदाहरण

1. सीमा बाजार से सब्जियां लाती है।

2. वे प्रतिदिन नहाते हैं।

3. पक्षी आकाश में विचरण करते हैं।

4. बालक स्कूल में शोर मचाते हैं।

5. राम घर जाता है।

6. वह गेंद खेलता है।

7. सीता पढती है।

8. मैं गाता हूँ।

9. वह आता है।

10. हवा चलती है।

11. राधा  पढ़ती है।

12. मैं गाना गाता हूं।

13. मम्मी खाना बनाती है।

14. श्याम स्कूल जाता है।

15. रीता गाना गाती है।

16. हम सब खेलते हैं।

17. पतंग आकाश में उड़ती है।

18. माला कविता पढ़ती है।

19. पक्षी आसमान में उड़ती है।

20. राम घर जाता है।

 

पढ़ें अन्य वर्तमान काल के भेद (Kaal in Hindi)

सामान्य वर्तमान काल, अपूर्ण वर्तमान काल, तत्कालिक वर्तमान काल, पूर्ण वर्तमान काल, संदिग्ध वर्तमान काल, संभाव्य वर्तमान काल, पूर्ण सातत्य वर्तमान काल

Frequently Asked Questions (FAQ)

1. सामान्य वर्तमान काल की परिभाषा लिखिए?

क्रिया के जिस रूप से कार्य की पूर्णता और अपूर्णता का पता न चले उसे सामान्य वर्तमान काल कहते हैं। अथार्त जिस क्रिया से क्रिया के सामान्य रूप का वर्तमान में होने का पता चलता है उसे सामान्य वर्तमान काल कहते हैं। जैसे- राधा पढ़ती है। मैं गाना गाता हूं। मम्मी खाना बनाती है।

2. सामान्य वर्तमान काल किसे कहते हैं?

क्रिया के जिस रूप से कार्य की पूर्णता और अपूर्णता का पता न चले उसे सामान्य वर्तमान काल कहते हैं। जिन वाक्यों के अंत में ता है, ती है, ते है, ता हूँ, ती हूँ आदि आते हैं उसे सामान्य वर्तमान काल कहते है। जैसे- राम घर जाता है। वह गेंद खेलता है। सीता पढती है।

3. सामान्य वर्तमान काल क्या हैं?

सामान्य वर्तमान उसे कहते हैं जिसमें क्रिया का वर्तमान काल में होना जाना जाता है। जैसे- मोहन जाता है। राम पढ़ता है। गीता देखती है।

4. सामान्य वर्तमान काल के उदाहरण लिखो?

सामान्य वर्तमान काल के उदाहरण निम्नलिखित हैं:- हम सब खेलते हैं। पतंग आकाश में उड़ती है। माला कविता पढ़ती है। पक्षी आसमान में उड़ती है। राम घर जाता है। बच्चा रोता है। मैं लेख लिखता हूँ। बच्चा खिलौनों से खेलता है। रमा मिठाई बनाती है। मैं सोता हूँ। वह खेल खेलता है।

5. सामान्य वर्तमान काल के वाक्य लिखिए?

सामान्य वर्तमान काल के वाक्य निम्नलिखित हैं:- वह पुस्तक पढ़ता है। पंकज गाना गाता है। मैं विद्यालय जाता हूँ। वह कहाँ जाता है? गाय दूध देती है। मोहन जाता है। राम पढ़ता है। गीता देखती है।

पढ़ें हिन्दी व्याकरण के अन्य चैप्टर

भाषा, वर्ण, शब्द, पद, वाक्य, संज्ञा, सर्वनाम, विशेषण, क्रिया, क्रिया विशेषण, समुच्चय बोधक, विस्मयादि बोधक, वचन, लिंग, कारक, पुरुष, उपसर्ग, प्रत्यय, संधि, छन्द, समास, अलंकार, रस

You may like these posts

क्रियाविशेषण – परिभाषा, भेद और उदाहरण, Kriya visheshan in hindi

क्रियाविशेषण (Adverb, क्रिया विशेषण) Kriya Visheshan (क्रिया विशेषण) or Adverb is a word that either modifies the meaning of an adjective ( विशेषण), verb (क्रिया). जिन शब्दों से क्रिया की...Read more !

ड , ढ़ , त , थ , द – से शुरू होने वाले पर्यायवाची शब्द (Paryayvachi Shabd)

(‘ड , ढ़ , त , थ , द’ से शुरू होने वाले पर्यायवाची) पर्याय का अर्थ है – समान। अतः समान अर्थ व्यक्त करने वाले शब्दों को पर्यायवाची शब्द...Read more !

समुच्चय बोधक – परिभाषा भेद और उदाहरण, Conjuction In hindi

समुच्चय बोधक समुच्चय बोधक (Conjuction): दो शब्दों या वाक्यों को जोड़ने वाले संयोजक शब्द को समुच्चय बोधक कहते हैं। जिन शब्दों की वजह से दो या दो से ज्यादा वाक्य...Read more !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *