बैंक / विभिन्न व्यवसायों से सम्बन्धित ऋण प्राप्ति हेतु आवेदन-पत्र

बैंक/विभिन्न व्यवसायों से सम्बन्धित ऋण-प्राप्ति हेतु आवेदन-पत्र, Here we have given UP Board for Class 10 & 12 Samanya Hindi, बैंक/विभिन्न व्यवसायों से सम्बन्धित ऋण-प्राप्ति हेतु आवेदन-पत्र।

ऋण प्राप्ति हेतु आवेदन-पत्र

ऋण-प्राप्ति हेतु भारतीय स्टेट बैंक के शाखा प्रबन्धक को आवेदन-पत्र लिखिए। या भारतीय स्टेट बैंक के शाखा प्रबन्धक को निजी कम्प्यूटर प्रशिक्षण केन्द्र की स्थापना हेतु ऋण-प्राप्ति के लिए एक आवेदन-पत्र लिखिए। या अपना कुटीर उद्योग प्रारम्भ करने हेतु किसी बैंक के प्रबन्धक को ऋण प्रदान करने हेतु एक पत्र लिखिए। या अपने निकटस्थ बैंक के शाखा-प्रबन्धक के नाम एक प्रार्थना-पत्र लिखिए, जिसमें निजी रोजगार के लिए ऋण लेने का निवेदन किया गया हो। या इलाहाबाद बैंक के शाखा प्रबन्धक को फसली ऋण योजनान्तर्गत ऋण-प्राप्ति हेतु एक आवेदन-पत्र लिखिए। या अपना कुटीर उद्योग प्रारम्भ करने हेतु किसी बैंक के प्रबन्धक को ऋण प्रदान करने हेतु एक पत्र लिखिए।

केनरा बैंक के प्रबन्धक को अध्ययनार्थ ऋण-प्राप्ति हेतु एक पत्र लिखिए।

या

भारतीय स्टेट बैंक के शाखा प्रबन्धक को निजी उच्च शिक्षा-अध्ययन (चिकित्सा अथवा इंजीनियरिंग) हेतु शिक्षा ऋण प्राप्ति के लिए एक आवेदन-पत्र लिखिए।

या

उच्च शिक्षा ग्रहण करने हेतु ऋण प्राप्त करने के लिए बैंक मैनेजर को एक प्रार्थना-पत्र लिखिए।

Rin Prapti Hetu Avedan Patra

उदाहरण १. बैंक के प्रबन्धक को अपना कम्प्यूटर प्रशिक्षण संस्थान प्रारम्भ करने हेतु ऋण प्रदान करने हेतु एक आवेदन-पत्र लिखिए।

सेवा में,
           प्रबन्धक
           स्टेट बैंक ऑफ इण्डिया,
           फीरोजाबाद
महोदय,
           मुझे विदित हुआ है कि प्रधानमन्त्री रोजगार योजना के अन्तर्गत सरकारी क्षेत्र की बैंकों से शिक्षित बेरोजगार अपना व्यवसाय प्रारम्भ करने के लिए आसान शर्तों एवं कम ब्याज पर ऋण प्राप्त कर सकते हैं। इसी योजना के अन्तर्गत में ऋण प्राप्ति हेतु यह आवेदन-पत्र प्रस्तुत कर रहा हूं।
           मैंने लखनऊ विश्वविद्यालय से सन् १९१८ ई. में एम. एस-सी. (भौतिक विज्ञान) परीक्षा प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण की है। तदुपरान्त वहीं से एम. सी. ए. परीक्षा भी उत्तीर्ण की है। मैं अपना कम्प्यूटर प्रशिक्षण संस्थान खोलना चाहता हूं, जिसके लिए लगभग दो लाख रुपए की पूंजी की आवश्यकता है। इसमें से पचास हजार रुपयों की व्यवस्था तो मैं अपने स्रोतों से कर लूंगा, किन्तु शेष एक लाख पचास हजार रुपए की व्यवस्था ऋण लेकर कर पाऊंगा। कपया उक्त योजना के अन्तर्गत आप मुझे बैंक से एक लाख पचास हजार रुपए का दिलवाने की व्यवस्था करें। इस हेतु जो भी आवश्यक प्रपत्र, आदि भरे जाने हैं उन्हें भरने के लिए मैं तैयारी तथा यदि आप चाहेंगे तो ‘गारंटर’ को भी साथ ले आऊंगा।
           अपने संस्थान की योजना का एक प्रारूप आपको भेज रहा हूं जिससे स्पष्ट हो जाएगा कि मैं आपका ऋण पांच वर्षों में आसानी से ब्याज सहित लौटा सकूँगा।
           आशा है, मुझे ऋण देकर अनुग्रहीत करेंगे।
धन्यवाद!

दिनांक २०.५.२०१९
संलग्नक :
   १. एम. एस-सी. एवं एम. सी. ए. की डिग्रियों की
       सत्यापित प्रतिलिपि
   २. कम्प्यूटर शिक्षण संस्थान की योजना का प्रारूप
प्रार्थी
प्रेम शंकर मिश्रा
३२, हनुमानगंज
फीरोजाबाद

उदाहरण २. मेडिकल स्टोर खोलने हेतु बैंक से ऋण प्राप्ति हेतु आवेदन-पत्र का प्रारूप लिखिए।

सेवा में,
           प्रबन्धक
           बैंक ऑफ बड़ोदा,
           सदर बाजार, आगरा
महोदय,
           मैं एक शिक्षित बेरोजगार युवक हूं तथा मैंने बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय से बी. फार्मा की उपाधि सन् १९१८ ई. में प्राप्त की है। मैंने मेडिकल स्टोर खोलने हेतु सरकार से लाइसेन्स प्राप्त कर लिया है, किन्तु आवश्यक पूंजी का प्रबन्ध मैं अपने स्रोत से नहीं कर पा रहा हूं।
           मुझे विदित हुआ है कि आपकी बैंक शिक्षित बेरोजगारों को अपना व्यवसाय प्रारम्भ करने हेतु आसान शर्तों एवं कम ब्याज पर ऋण उपलब्ध कराती है। इसी योजना के अन्तर्गत मैं आपकी बैंक से एक लाख रुपए ऋण के रूप में प्राप्त करना चाहता हूं। इस हेतु आवश्यक प्रपत्र कृपया मुझे प्रदान करें जिससे मैं उन्हें भरकर आपसे ऋण प्राप्त कर सकूँ।
           मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि बैंक का ऋण ब्याज सहित निर्धारित अवधि में अवश्य चुका दूंगा। अपने व्यवसाय की योजना का एक प्रारूप इस आवेदन-पत्र के साथ संलग्न कर रहा हूं।
           आशा है मुझे बैंक से ऋण दिलाकर कृतार्थ करेंगे।
धन्यवाद

दिनांक २०.६.२०१९
संलग्नक :
   १. बी. फार्मा डिग्री की सत्यापित प्रतिलिपि
   २. लाइसेन्स की सत्यापित प्रतिलिपि
   ३. व्यवसाय की योजना का प्रारूप
प्रार्थी
सुदेश कुमार गौतम
३६, जीवनी मण्डी
आगरा
टेलीफोन : ३६६१६२

उदाहरण ३. मुर्गी पालन उद्योग हेतु बैंक से ऋण प्राप्त करने के लिए एक आवेदन-पत्र का प्रारूप लिखिए।

सेवा में,
          प्रबन्धक
          इलाहाबाद बैंक, बाई पास रोड
          फीरोजाबाद
महोदय,
          मैं इण्टर पास बेरोजगार युवक हूं। मुझे ज्ञात हुआ है कि बैंक अपना व्यवसाय प्रारम्भ करने वाले बेरोजगार युवकों को कम ब्याज पर ऋण सुविधा उपलब्ध कराती है। मैं मुर्गी पालन का व्यवसाय प्रारम्भ करना चाहता हूं। इस हेतु मुझे पचास हजार रुपयों की आवश्यकता है।
          आपसे अनुरोध है कि कृपया मुझे बैंक से पचास हजार रुपए कम ब्याज पर ऋण के रूप में उपलब्ध करवाएं। मैं एक स्थानीय मुर्गी पालन केन्द्र पर दो वर्ष कार्य कर चुका हूं, अतः इस व्यवसाय की पूरी जानकारी मुझे है।
          मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि आपके द्वारा दिए गए ऋण से मैं मुर्गी पालन व्यवसाय सफलता से संचालित कर लूंगा तथा बैंक का ऋण ब्याज सहित दी गई अवधि में आसानी से चुका दूंगा।
          कृपया ऋण प्राप्ति हेतु आवश्यक प्रपत्र मुझसे भरवा ले और ऋण का चैक मुझे प्रदान करें। आपके द्वारा निर्धारित समय पर मैं बैंक में उपस्थित हो जाऊंगा।
धन्यवाद सहित

दिनांक २०.६.२०१९
संलग्नक :
   १. इण्टर की अंकतालिका की प्रतिलिपि
   २. स्थायी निवास का प्रमाण-पत्र
   ३. कार्यानुभव का प्रमाण-पत्र
प्रार्थी
मोहन लाल निमेष
२०८, गांधी नगर
फीरोजाबाद
टेलीफोन नं. : ४४८४७

Related Posts

व्यावसायिक पत्र (Vyavsayik Patra Lekhan) – व्यावसायिक पत्र की रूपरेखा और प्रारूप

व्यावसायिक पत्र: आज का युग व्यापार-प्रदान युग है। चारों ओर उद्योग धन्धों का जाल फैलता जा रहा है। अनेक प्रकार के उद्योगों के बीच परस्पर सम्बन्ध और व्यापार की दृष्टि...Read more !

आवेदन पत्र (Application), Avedan Patra / Prarthna Patra – Praroop & RoopRekha

आवेदन पत्र           आवेदन (Application) शब्द से ही स्पष्ट हो जाता है कि अपने से किसी बड़े अधिकारी को ही लिखा जाने वाला पत्र आवेदन-पत्र कहलाता...Read more !

नियुक्ति आवेदन पत्र का प्रारूप और लेखन की विधि और विशेषताएँ

नियुक्ति आवेदन पत्र का अर्थ व परिभाषा नियुक्ति आवेदन पत्र से अभिप्राय उन पत्रों से लिया जाता है जो नौकरी प्राप्त करने हेतु किसी संस्था को आवेदक द्वारा भेजे जाते...Read more !

पत्र लेखन – Patra Lekhan in Hindi – हिन्दी

पत्र-लेखन (Letter-Writing) पत्र-लेखन आधुनिक युग की अपरिहार्य आवश्यकता है। पत्र एक ओर सामाजिक व्यवहार के अपरिहार्य अंग हैं तो दूसरी ओर उनकी व्यापारिक आवश्यकता भी रहती है। पत्र लेखन एक...Read more !

संपादक के नाम पत्र – कैसे लिखें? विशेषताएँ और उदाहरण

          सम्पादकीय पत्र अथवा संपादक के नाम पत्र वे पत्र हैं, जो पाठकों द्वारा समाचार पत्रों के सम्पादकों को सम्बोधित करके लिखे जाते हैं। इस प्रकार...Read more !