प्रश्नवाचक क्रियाविशेषण – परिभाषा, उदाहरण, भेद एवं अर्थ

परिभाषा

प्रश्न वाचक क्रियाविशेषण वे शब्द होते हैं जिनकी सहायता से हम प्रश्न करते है या जिनके योग से प्रश्न किए जाए प्रश्नवाचक क्रियाविशेषण कहलाते है।

उदाहरण

कदा, अथ् किम् , किमर्थम्, क्व / कुत्र, कुत:, कथम्, किम् आदि प्रश्नवाचक क्रियाविशेषण के उदाहरण हैं ।

कुछ प्रश्न वाचक क्रिया विशेषण एवं अर्थ

प्रश्नवाचक क्रियाविशेषण अर्थ
कदा कब
अथ् किम् हाँ तो क्या
किमर्थम् किसलिये
क्व / कुत्र कहाँ
कुत: कहाँ से
कथम् क्यों
किम् क्या

Related Posts

Sanskrit Pronunciation, Table – उच्चारण स्थान तालिका – Sanskrit

How to pronounce in Sanskrit? Pronunciation the letters, the coaching of Sanskrit knowledge. What is Sanskrit Pronunciation of Sanskrit? Know below (संस्कृत उच्चारण स्थान) Sanskrit Pronunciation of Sanskrit in sanskrit...Read more !

भारतीय आर्य भाषाओं के प्रकार

विकास क्रम की दृष्टि से भारतीय आर्य भाषा को तीन प्रकार में / कालों में विभाजित किया गया है । भारतीय आर्य भाषा समूह को काल-क्रम की दृष्टि से निम्न...Read more !

संस्मरण और संस्मरण-कार – लेखक और रचनाएँ, हिन्दी

हिन्दी के संस्मरण और संस्मरण-कार हिन्दी का प्रथम संस्मरण ‘बालमुकुंद गुप्त’ लिखित “हरिऔध जी का संस्मरण” है। किसी घटना, दृश्य, वस्तु या व्यक्ति का पूर्णरूपेण आत्मीय स्मरण संस्मरण कहलाता है।...Read more !

ENGLISH TO SANSKRIT TRANSLATION

‘Translation’ means – Expressing the wospoken in one language in another language Here we discuss how to Translate English language in Sanskrit language – discuss this will do So Sanskrit...Read more !

सम्प्रदान कारक (के लिए) – चतुर्थी विभक्ति – संस्कृत, हिन्दी

सम्प्रदान कारक परिभाषा जिसके लिए कोई कार्य किया जाए, उसे संप्रदान कारक कहते हैं। अथवा – कर्ता जिसके लिए कुछ कार्य करता है, अथवा जिसे कुछ देता है उसे व्यक्त...Read more !